close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: TISS ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की स्टेटस रिपोर्ट, सरकार देगी जवाब

कोर्ट ने टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस (TISS) को पीड़ित लड़कियों के पुनर्वास के लिए प्लान तैयार करने का आदेश दिया था.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: TISS ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की स्टेटस रिपोर्ट, सरकार देगी जवाब
TISS ने दाखिल की सुप्रीम कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली/मुजफ्फरपुर : बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में स्टेट्स रिपोर्ट दाखिल की है. दो दर्जन लड़कियों और उनके परिवार के पुर्नवास को लेकर स्टेट्स रिपोर्ट दाखिल की गई है. चाइल्ड वेलफेयर कमिटी और बिहार सरकार स्टेटस रिपोर्ट पर कल सुप्रीम कोर्ट में जवाब देगी. सुप्रीम कोर्ट इस मसले पर आदेश भी दे सकता है.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि पीड़ित लड़कियों के पुनर्वास के लिए प्लान तैयार किया जाए. कोर्ट ने टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस (TISS) को पीड़ित लड़कियों के पुनर्वास के लिए प्लान तैयार करने का आदेश दिया था.

सुप्रीम कोर्ट ने सभी लड़कियों के लिए अलग-अलग पुनर्वास प्लान तैयार करने के लिए कहा था. जस्टिस इंदु मल्होत्रा और जस्टिस एमआर शाह की बेंच ने सीबीआई को तीन महीने में जांच पूरा करने का आदेश दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा था कि इस मामले में आरोपियों के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट सुनवाई नहीं करेगा. 

साथ ही आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट से सीबीआई ने जांच के लिए 6 महीने का वक्त मांगा था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने का वक्त दिया. सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 आईपीसी और आईटी एक्ट और विजिटर जो लड़कियों का उत्पीड़न, ड्रग या ट्रैफिकिंग करते थे उनके बारे में भी जांच करने को कहा था.