नालंदा: सर्दी आते ही राजगीर में सैलानियाों का आना शुरू, परिवार संग उठा रहे लुफ्त

दिसंबर आते ही खासकर पांडू पोखर में सैलानी अपने बच्चों और परिवार के साथ वोटिंग लुफ्त उठा रहे हैं. इसी प्रकार का कुछ नजारा राजगीर के ऐतिहासिक स्थलों पर भी देखा जा रहा है.

नालंदा: सर्दी आते ही राजगीर में सैलानियाों का आना शुरू, परिवार संग उठा रहे लुफ्त
बोटिंग का लुफ्त उठा रहे हैं सैलानी.

दीपक विश्वकर्मा/नालंदा: बीते 9 महीने से कोरोना (Corona) की मार झेल रहे राजगीर के लोगों के चेहरे पर मुस्कान दिखने लगी है. सरकार के द्वारा पार्कों को खोलने की अनुमति दिए जाने के बाद खासकर अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल राजगीर में सैलानियों का आना शुरू हो गया है.

हालांकि, पिछले 15 अक्टूबर को यहां के पार्क खोले गए थे. लेकिन अक्टूबर में पर्यटकों का रुझान नहीं हुआ. दिसंबर आते ही खासकर पांडू पोखर में सैलानी अपने बच्चों और परिवार के साथ बोटिंग लुफ्त उठा रहे हैं. इसी प्रकार का कुछ नजारा राजगीर के ऐतिहासिक स्थलों पर भी देखा जा रहा है. 

स्वर्ण भंडार में पर्यटक अब आने लगे हैं. यहां भी सैलानियों के चेहरे पर मुस्कान दिख रही है. लोग अपने परिवार के साथ राजगीर की हसीन वादियों के साथ साथ तांगा का भी लुत्फ उठा रहे हैं. पांडू पोखर आने वाले पर्यटकों को मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का अनुपालन करने की हिदायत दी जा रही है

बता दें कि कोविड लॉकडाउन के दौरान सरकार ने स्कूल, कॉलेज, माल, होटल, पार्क, स्टेडियम समेत सभी जगहों को बंद करने का आदेश दिया था. इस दौरान सिर्फ आवश्यक सेवाओं ही चालू थी. हालांकि, इसके बाद सरकार ने जब अनलॉक की प्रक्रिया चालू की तो धीरे-धीरे सभी जगहों को गाइडलाइन के साथ खोलने का आदेश दिया गया.