close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बक्सर: व्यवसायियों से रंगदारी मांगने वाला दो शख्स अरेस्ट, खुद को बताता था जेल में बंद अपराधी

 मामला दर्ज किए जाने के बाद एसपी द्वारा गठित टीम के द्वारा मामले की तफ्तीश शुरू की गई और मामले में दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया.

बक्सर: व्यवसायियों से रंगदारी मांगने वाला दो शख्स अरेस्ट, खुद को बताता था जेल में बंद अपराधी
इस मामले में दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बक्सर: बिहार के बक्सर में फोन के जरिए स्वर्ण व्यवसायियों से रंगदारी मांग कर व्यवसायियों में खौफ पैदा करने वाले दो अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इन अपराधियों के द्वारा अलग-अलग मोबाइल नंबरों से स्वर्ण व्यवसायियों के मोबाइल पर फोन कर लाखों रुपए रंगदारी की मांग की गई थी. मामला दर्ज किए जाने के बाद एसपी द्वारा गठित टीम के द्वारा मामले की तफ्तीश शुरू की गई और मामले में दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया.

दोनों अपराधियों के पास से दो मोबाइल भी बरामद किया गया है जिससे वह रंगदारी की मांग करते थे. मिली जानकारी के अनुसार व्यवसायियों से फोन पर रंगदारी मांगने वाले अपराधी खुद को जेल में बंद बड़ा अपराधी बताते थे और फिर रंगदारी की रकम नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी देते थे. रंगदारी मांगे जाने के बाद से स्वर्ण व्यवसाई काफी खौफजदा थे जिसके कारण उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की गुहार और अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की थी.

मामले में बक्सर एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने बताया कि पिछले 14 अक्टूबर और 17 अक्टूबर को फोन के जरिए बक्सर के दो स्वर्ण व्यवसायियों से रंगदारी की मांग की गई थी और रकम नहीं देने पर गाली गलौज करते हुए हत्या करने की धमकी दी गई थी. जिसके बाद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सतीश कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया जिसके बाद कार्रवाई को अंजाम देते हुए दोनों शातिर को धर दबोचा गया.

जिन स्वर्ण व्यवसायियों से रंगदारी की मांग की गई थी उनका नाम सुनील प्रसाद वर्मा और अक्षय वर्मा है. वही फोन के जरिए व्यवसायियों से रंगदारी मांगने वाले ओमप्रकाश और सुनील सिंह अब पुलिस की गिरफ्त में है. पुलिस के मुताबिक किसी अन्य मामले में इनकी संलिप्तता फिलहाल सामने नहीं आई है लेकिन पूछताछ और भी खुलासे होने की उम्मीद है.

जिले के दो स्वर्ण व्यवसायियों से फोन पर रंगदारी की मांग करने और रंगदारी नहीं देने पर हत्या करने की धमकी मिलने के बाद से शहर के अन्य व्यवसाई भी परेशान थे. हालांकि दोनों अपराधियों के पकड़े जाने के बाद स्वर्ण व्यवसायियों ने ही नहीं बल्कि पुलिस ने भी राहत की सांस ली है. 

अब इन दोनों अपराधियों से गहन पूछताछ के बाद यह साफ हो पाएगा कि यह दोनों ही केवल इस तरह की वारदात को अंजाम देते थे या फिर इनके और भी शागिर्द इस मामले में संलिप्त है.