close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नवरात्रा से पहले मिथिला पेंटिंग से सजाया जाएगा उच्चैठ मंदिर को, तैयारी में जुटे कलाकार

नवरात्रा को लेकर पूरे मंदिर परिसर को सजाया जा रहा है. प्रत्येक साल देश के कोने-कोने और पड़ोसी देश नेपाल से काफी संख्या में लोग मां का आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं.

नवरात्रा से पहले मिथिला पेंटिंग से सजाया जाएगा उच्चैठ मंदिर को, तैयारी में जुटे कलाकार
मिथिला पेंटिंग से सजेगा उच्चैठ भगवती परिसर.

बिन्दु भूषण ठाकुर, मधुबनी : बिहार के मधुबनी के बेनीपट्टी स्थित विश्व प्रसिद्ध शक्ति पीठ उच्चैठ भगवती मंदिर परिसर नवरात्रा के अवसर पर मिथिला पेंटिग से सजने लगी है. मान्यता है कि यहीं से कालिदास ने भगवती के आशीर्वाद से विद्या हासिल की थी. नवरात्रा को लेकर पूरे मंदिर परिसर को सजाया जा रहा है. प्रत्येक साल देश के कोने-कोने और पड़ोसी देश नेपाल से काफी संख्या में लोग मां का आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं.

मंदिर परिसर को इन दिनों करीब 50 कलाकारों की टीम मिथिला पेंटिंग से सजा रही है. ये कलाकार विश्व प्रसिद्ध प्रसिद्ध मिथिला पेंटिग के माध्यम से कई प्रकार के चित्रों को उकेरने में जुटे हैं. देवी दुर्गा, भागवान शिव सहित अनेक देवी देवताओं के चित्र उकेरे जा रहे हैं.

लाइव टीवी देखें-:

वहीं, स्थानीय लोगों में अभी से पूजा को लेकर उत्सुक्ता है. सभी तैयारी में जुट गए हैं. दुर्गापूजा की तैयारी को लेकर प्रशासन और स्थानीय जनप्रतिनिधि भी सहयोग करने में जुटे हैं.

बीडीओ मनोज कुमार ने बताया कि तालाब किनारे लगभग एक दर्जन स्ट्रीट लाईट और मंदिर परिसर में हाई मास्क लाइट लगाया जाएगा. तालाब के किनारे बने दीवार और रेलिंग को भी सजाया जा रहा है. मंदिर परिसर से थोड़ी दूरी पर कालिदास डीह है, जहां आज भी कालिदास से जुड़ी यादें ताजा हो जाती हैं. पौराणिक कहानियों में वर्नित नदी, जिसे पार कर कालिदास भगवती की पूजा करने पहुंचे थे, वह पास में ही मौजूद है.