गठबंधन को लेकर RLSP में उपेंद्र कुशवाहा लेंगे अंतिम फैसला, बैठक में RJD की हुई निंदा

आरएलएसपी के एनडीए में शामिल होने के कयास लगातार लगाए जा रहे हैं. इस बीच, पार्टी की आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राज्य कार्यकारिणी के साथ ही राष्ट्रीय, प्रदेश के सभी पदाधिकारियों, जिलाध्यक्षों के साथ बैठक हुई.

गठबंधन को लेकर RLSP में उपेंद्र कुशवाहा लेंगे अंतिम फैसला, बैठक में RJD की हुई निंदा

पटना: बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. आरएलएसपी के एनडीए में शामिल होने के कयास लगातार लगाए जा रहे हैं. इस बीच, पार्टी की आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राज्य कार्यकारिणी के साथ ही राष्ट्रीय, प्रदेश के सभी पदाधिकारियों, जिलाध्यक्षों के साथ बैठक हुई.

आरएलएसपी की बैठक में गठबंधन का फैसला लेने के लिए उपेंद्र कुशवाहा को अधिकृत किया गया है. साथ ही इस बैठक में आरजेडी के एकतरफा फैसलों की निंदा की गई है. आरएलएसपी की ओर से गठबंधन बचाने को लेकर किये गये प्रयासों की चर्चा भी की गई.

साथ ही प्रस्ताव में कहा गया है कि आरएलएसपी की लगातार कोशिशों के बाद भी नतीजा नहीं निकल रहा है. पार्टी की राष्ट्रीय, राज्य और जिला कार्यकारिणी ने उपेंद्र कुशवाहा पर भरोसा जताया है. 

अब गठबंधन को लेकर उपेंद्र कुशवाहा जो फैसला लेंगे, उसको पूरी पार्टी मानेगी. बैठक में कहा गया है कि महागठबंधन में नीतियां, नेतृत्व और साझा अभियान होना चाहिए. आरजेडी की ओर से एकतरफा फैसला लिया जाता है. साथ ही ये भी कहा गया है कि सीट बंटवारे पर अबतक एक राय नहीं बन पाई है. कई दौर की बातचीत का अबतक कोई नतीजा नहीं निकला है.

आपको बता दें कि बुधवार को आरएलएसपी के प्रधान महासचिव माधव आनंद ने बड़ा बयान देते हुए महागठबंधन पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा कि महागठबंधन आईसीयू में चला गया है. आईसीयू में जाने के बाद बातचीत भी सही से नहीं होता है.. 

उन्होंने ये भी कहा था कि बिहार के विकास के लिए हम कुछ भी कर सकते हैं. आरजेडी और कांग्रेस की ओर से कोई पहल नहीं की जा रही है. राजनीति में रास्ते कभी बंद नहीं होते हैं. महागठबंधन में सबकी सहमति जरूरी है. कांग्रेस के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को नेता नहीं मानते हैं. बैठक कर नेता और एजेंडा पर फैसला लेना चाहिए. अगर हमारी बात नहीं मानी जाती, तो फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं.