जमशेदपुर में मरीज को गलत दवाई देने से हुआ रिएक्शन, प्रबंधन पर भड़के परिजन

 चक्रधरपुर रेलवे अस्पताल में पुरुष वार्ड में शरीर जलने की वजह से मनोरंजन दास भर्ती था, जिसको नर्स ने गलत दवाई दे दी थी. इसके बाद उनके शरीर में रिएक्शन के कारण खुजली शुरू हो गई. मरीज मनोरंजन दास के शरीर में रिएक्शन होने के बाद परिजनों को इसकी जानकारी मिली. परिजनों ने अस्पताल प्रशासन से जब इस बारे में सवाल पूछा तो प्रबंधन ने भी कुछ भी कहने से इंकार कर दिया.

जमशेदपुर में मरीज को गलत दवाई देने से हुआ रिएक्शन, प्रबंधन पर भड़के परिजन
मरीज को गलत दवाई देने के आरोप का अस्पताल प्रबंधन ने किया खंडन.

जमशेदपुर: झारखंड के चक्रधरपुर रेलवे अस्पताल में एक मरीज को दूसरे मरीज की दवा देने का मामला सामने आया. इतना ही नहीं दवा देने की वजह से मरीज को रिएक्शन भी हो गया.

आपको बता दें कि चक्रधरपुर रेलवे अस्पताल में पुरुष वार्ड में शरीर जलने की वजह से मनोरंजन दास भर्ती था, जिसको नर्स ने गलत दवाई दे दी थी. इसके बाद उनके शरीर में रिएक्शन के कारण खुजली शुरू हो गई. मरीज मनोरंजन दास के शरीर में रिएक्शन होने के बाद परिजनों को इसकी जानकारी मिली. परिजनों ने अस्पताल प्रशासन से जब इस बारे में सवाल पूछा तो प्रबंधन ने भी कुछ भी कहने से इंकार कर दिया.

इस घटना के बाद से मरीज के बेटे अरूप दास ने मामले को अपने सोशल साईट के पर्सनल अकाउंट पर डाल दिया. तब से मामला वायरल हो गया. मामले के वायरल होने के बाद चक्रधरपुर रेलवे अस्पताल प्रबंधन हरकत में आ गई. अस्पताल प्रबंधन ने मामले की अपने स्तर से जांच शुरू की. इसके बाद उन्होंने बताया कि मरीज मनोरंजन दास को दूसरी दवा देने का आरोप निराधार है. अस्पताल प्रबंधन ने ऐसी किसी भी तरह की गलती से इंकार किया है.

हालांकि डॉक्टरों ने माना की दवा से रिएक्शन हुआ है, लेकिन अस्पताल की देखरेख में अब मरीज पहले से बेहतर है. रेलवे अस्पताल के डॉक्टरों ने मरीज और उनके परिजनों से अपील की है कि किसी भी तरह से अगर वो चिकित्सीय सेवा से असंतुष्ट हैं तो ईलाज कर रहे डॉक्टर या फिर अस्पताल प्रबंधन के पदाधिकारी को शिकायत करें. 
Anupama Jha, News Desk