बिहार: नेपाल बॉर्डर पर तनाव के बाद वाल्मीकि टाइगर रिजर्व प्रशासन भी हुआ अलर्ट

 बिहार के सीतामढ़ी में नेपाल पुलिस और स्थानीय नागरिकों में हुई झड़प के बाद इंडिया-नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है.

बिहार: नेपाल बॉर्डर पर तनाव के बाद वाल्मीकि टाइगर रिजर्व प्रशासन भी हुआ अलर्ट
संवेदनशील बॉर्डर लैंड पर एसएसबी की विशेष नजर है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बगहा: बिहार के सीतामढ़ी में नेपाल पुलिस और स्थानीय नागरिकों में हुई झड़प के बाद इंडिया-नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है. पुलिस और एसएसबी साझा गश्ती कर रहे हैं. संवेदनशील बॉर्डर लैंड पर एसएसबी की विशेष नजर है. 

भारतीय जमीन पर झड़प के बादर चौकसी बढ़ रही है. सीतामढ़ी सीमा क्षेत्र में घटी घटना को लेकर खास सावधानी बरती जा ही है. वाल्मीकि टाईगर रिजर्व प्रशासन भी अलर्ट हो चुका है. कई लोगों को नोटिस भी थमाया जा चुका है.

वाल्मीकि नगर के रोहुआ टोला, झंडू टोला, सुस्ता व रमपुरवा समेत भेडिहारी से सटे इलाकों में कड़ी निगरानी रखी जा रही है. हालांकि, एसएसबी ने शुक्रवार को सीतामढ़ी की घटना को स्थनीय विवाद मानते हुए कहा कि बिहार-नेपाल सीमा पर कोई तनाव नहीं है. एसएसबी का कहना है कि इस घटना के पीछे किसी भी तरह के दबाव की बात नहीं है. 

एसएसबी पटना फ्रंटियर के आईजी संजय कुमार ने शनिवार को मीडिया के साथ बातचीत में कहा कि नेपाल से सटी बिहार सीमा पर किसी तरह का तनाव नहीं है. उन्होंने सीतामढ़ी की शुक्रवार को घटना को स्थानीय विवाद मानते हुए कहा, "स्थानीय प्रशासन इसकी जांच कर रही है. एसएसबी और नेपाल पुलिस के साथ ऐसे भी कभी कोई विवाद नहीं हुआ है."

संजय कुमार ने स्पष्ट कहा कि बिहार के लोगों का नेपाल से संबंध बेटी-रोटी का रहा है. लोग आमतौर पर रोज नेपाल आजे-आते हैं. ऐसे में कई मौकों पर झगड़ा हो जाता है, जिसे बाद में सुलझा लिया जाता है. उन्होंने कहा कि इसमें तनाव वाली कहीं कोई बात नहीं है. उन्होंने कहा कि नेपाल पुलिस जिस व्यक्ति को शुक्रवार को उठाकर ले गई थी, उसे भी शनिवार को छोड़ दिया है.