close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चाईबासा: सारंडा के बीहड़ में वन महोत्सव आयोजित, सांसद गीता कोड़ा भी कार्यक्रम में हुईं शामिल

सीआरपीएफ के द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे. ग्रामीणों ने भी बढ़चढ़ कर वन ,अहोत्सव में भाग लिया. इस मौके पर सारंडा वन प्रमण्डल के डी एफ ओ रजनीश कुमार नें कहा कि सारंडा के लोगों को प्राकृति ने वरदान के रूप में सौपा है. 

चाईबासा: सारंडा के बीहड़ में वन महोत्सव आयोजित, सांसद गीता कोड़ा भी कार्यक्रम में हुईं शामिल
गीता कोड़ा नें कहा कि खनन कार्यों के लिये पेड़ों की कटाई होती है तो पेड़ लगाना भी अनिवार्य है.

चाईबासा: झारखंड के चाईबासा के सारंडा के अतिनक्सल प्रभावित रोआम गांव में सारंडा वन प्रमंडल चाईबासा में 70वां वन महोत्सव मनाया गया. इस अवसर पर वन महोत्सव का शुभारम्भ अतिथियों को पौधा देकर व दीप प्रज्वलित कर किया गया. इस मौके पर अतिथियों द्वारा सारंडा के रोआम के निकट कारो नदी के तट पर वृक्षारोपण का किया गया. स्थानीय बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम से समां बांध दिया.

वहीं, मौके पर सीआरपीएफ के द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे. ग्रामीणों ने भी बढ़चढ़ कर वन ,अहोत्सव में भाग लिया. इस मौके पर सारंडा वन प्रमण्डल के डी एफ ओ रजनीश कुमार नें कहा कि सारंडा के लोगों को प्राकृति ने वरदान के रूप में सौपा है. लोगों के लिये प्रतिदिन वन महोत्सव होना चाहिए. अब सारंडा के लोगों के लिए विकास कार्य किये जाने की आवश्यकता है. उन्होंने लोगों से आग्रह करते हुये कहा कि जंगलों की कटाई न करें और बाहरी लोग जो पेड़ों की कटाई कराते हैं उन्हें भी रोकें.

वन महोत्सव के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि चाईबासा सांसद  गीता कोड़ा नें कहा कि खनन कार्यों के लिये पेड़ों की कटाई होती है तो पेड़ लगाना भी अनिवार्य है. पेड़ लगाने की इस मुहीम में ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ कर जागरूकता फैलाने की आवश्यकता है.

इसके साथ हीं ग्रामीणों के रोजगार के लिये औषधीय पौधों को भी लगाना अनिवार्य होगा. साथ ही पेड़ लगाने के लिये ग्रामीणों को भी पौधे उपलब्ध करानी चाहिए. यहां की जड़ी बूटी की विदेशों में अच्छी कीमत होती है, आज जरूरत है कि सड़क बनने के बाद अब लोगों को सारंडा के जड़ी बूटी से रोजगार से जोड़ा जाए.