इस राज्य के लाखों किसानों को आज मिलेगा बड़ा तोहफा, 25000 रुपये तक अकाउंट में होंगे जमा

एक एकड़ या उससे कम कृषि भूमि रखने वाले किसानों को 5000 और 5 एकड़ तक भूमि रखने वाले किसानों के खाते में अधिकतम 25000 हजार रुपये की राशि दो किस्तों में दी जाएगी. 

इस राज्य के लाखों किसानों को आज मिलेगा बड़ा तोहफा, 25000 रुपये तक अकाउंट में होंगे जमा
फाइल फोटो

नई दिल्ली: उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू आज रांची के दौरे पर हैं. वे यहां किसानों को तोहफा देंगे. जानकारी के मुताबिक, आज प्रदेश के 13.60 लाख किसानों को मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना का लाभ मिलेगा. इन किसानों के खाते में सीधे 442 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे. मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत किसानों को प्रति एकड़ पांच हजार रुपये की राशि दी जाएगी. इस योजना के तहत 35 लाख किसानों के खाते में 3000 करोड़ रुपये भेजे जाएंगे.

स्पष्ट है कि एक एकड़ या उससे कम कृषि भूमि रखने वाले किसानों को 5000 और 5 एकड़ तक भूमि रखने वाले किसानों के खाते में अधिकतम 25000 हजार रुपये की राशि दो किस्तों में दी जाएगी. यह राज्य की पहली ऐसी योजना है जिसका 100 फीसदी भुगतान डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के माध्यम से होगा. कृषि विभाग के आकलन के अनुसार राज्य में 83 फीसदी किसानों के पास 2 एकड़ या उससे कम भूमि है. इनमें 65 फीसदी किसान ऐसे हैं जिनके पास 1 एकड़ से कम भूमि है.

स्वतंत्रता सेनानी की पत्नी को नहीं मिली सहायता, सीएम को चिट्ठी लिख मांगी इच्छा मृत्यु

बता दें, राज्य सरकार किसानों की आय बढ़ोतरी के लिए 2250 करोड़ की राशि खर्च करेगी. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बताया, "वित्त वर्ष 2019-20 के बजट में इस योजना को शामिल किया गया है. पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को पूरा करने में यह योजना काफी मददगार होगी. किसानों को बीज, खाद व अन्य कृषि निवेश के लिए दूसरों पर या बैंक पर निर्भर नहीं रहना होगा. उन्हें खेती के लिए किसी से कर्ज नहीं लेना पड़ेगा." 

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि यह योजना पूरी तरह से किसानों के कल्याण के लिए होगी. किसानों के खाते में राशि सीधे भेजी जाएगी जिससे वे फसल के लिए बीज, खाद आदि बाजार से खरीद सकेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों की खुशहाली के लिए लगातार प्रयासरत है. वर्तमान में 14.85 लाख किसानों की फसल बीमा के लिए प्रीमियम (66 करोड़ रुपए सालाना) भी राज्य सरकार भर रही है. किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर लोन दिया जा रहा है.