close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

किशनगंज: ठाकुरगंज प्रखंड के इस गांव में सड़क नदारद, चारपाई पर बीमार पहुंचते है अस्पताल

किशनगंज जिले के ठाकुरगंज प्रखंड के इस गांव में रहने वाले बीमार बुजूर्ग को बारिश के मौसम में रास्ता खराब होने के कारण घंटों इलाज के लिए तड़पना पड़ा.

किशनगंज: ठाकुरगंज प्रखंड के इस गांव में सड़क नदारद, चारपाई पर बीमार पहुंचते है अस्पताल
किशनगंज के डीडीसी ने इस मामले में संज्ञान लिया है.

अमित कुमार सिंह, किशनगंज: नीतीश कुमार की सरकार विकास के लाख के दावे करे. लेकिन बिहार के कई जिलों में ऐसे गांव भी हैं, जहां बारिश होने के बाद एम्बुलेंस पहुंचना काफी मुश्किल होता है. जिस कारण बीमार वयक्ति को चारपाई पर टांगकर अस्पताल पहुंचाना पड़ता है. जिसके लिए कई किलोमीटर की दूरी पैदल तय करनी पड़ती है. एक ऐसा ही वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. जो मानवता को शर्मसार करता दिख रहा है.

किशनगंज जिले के ठाकुरगंज प्रखंड के इस गांव में रहने वाले बीमार बुजुर्ग को बारिश के मौसम में रास्ता खराब होने के कारण घंटों इलाज के लिए तड़पना पड़ा. इस दौरान बुजुर्ग के परिजनों ने खाट में बीमार को उठाकर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया.

मानवता को तार-तार करने वाली यह तस्वीर बिहार के किशनगंज जिले के ठाकुरगंज प्रखंड के अंतर्गत भोगडाबर पंचायत के आदिवासी टोला की है. जहां पक्की सड़क के अभाव में बरसात के दिनों में मरीजों को अस्पताल लाने और ले जाने के लिए चारपाई का ही सहारा लेना पड़ता है.

मीडिया से बातचीत में ग्रामीणों ने बताया कि मरीजों को खाट में उठाकर ग्रामीणों को जान हथेली में लेकर कीचड़ से भरे सड़क से होकर गुजरना पड़ता है.

किशनगंज के डीडीसी यशपाल मीणा ने जानकारी मिलने के बाद इस मामले में संज्ञान लिया है. मीणा ने कहा है कि ग्रामीण कार्य विभाग के अभियंता को जांच कर जल्द सड़क निर्माण करने का आदेश दिया गया है.