close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुकेश सहनी बोले- BJP के साथ-साथ तेजस्वी यादव से भी हैं बेहतर रिश्ते, JDU ने दिखाया आईना

मुकेश सहनी ने कहा है किसी एक पार्टी या किसी एक व्यक्ति के इशारे पर महागठबंधन नहीं चलेगा, बल्कि इसमें सभी की राय आवश्यक होगी. 

मुकेश सहनी बोले- BJP के साथ-साथ तेजस्वी यादव से भी हैं बेहतर रिश्ते, JDU ने दिखाया आईना
मुकेश सहनी का बड़ा बयान. (फाइल फोटो)

पटना: विकासशील इंसान पार्टी (VIP) अध्यक्ष मुकेश सहनी के बयानों से बिहार की राजनीति में उबाल आ गया है. मुकेश सहनी ने दावा किया है कि उनकी पार्टी का वोट बैंक बढ़ा है और राजनीति में उनके रिश्ते भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) दोनों से बेहतर हैं. जनता दल युनाइटेड (JDU) ने मुकेश सहनी को सलाह देते हुए कहा है कि दो-चार रैलियों के सहारे राजनीति नहीं चलती है. इसके लिए कुछ करके दिखाना होता है. हालांकि कांग्रेस ने माना है कि वीआईपी का जनाधार बढ़ा है.

मुकेश सहनी ने बड़े-बड़े बयानों के जरिए बिहार की सियासत में उबाल ला दिया है. उनके मुताबिक, उनकी पार्टी केवल मल्लाह या पचपनिया समाज की पार्टी नहीं है, बल्कि नीतीश कुमार के वोट बैंक में भी उनकी पैठ बढ़ी है. सहनी के इन बयानों पर जेडीयू ने भी प्रतिक्रिया दी है.

जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन ने मुकेश सहनी को नसीहत देते हुए कहा है कि राजनीति एक सेवा होती है. सिर्फ दो-चार रैलियों के माध्यम से पार्टी नहीं चलती है. राजीव रंजन के मुताबिक, बिहार में एक ही मॉडल है वह है विकास का. राजनीति में कुछ ऐसा करना होता है कि लोगों के बीच उनकी पहचान बनें. जाति पर जिसने राजनीति की वो ज्यादा दिन तक टिका नहीं.

दूसरी तरफ कांग्रेस ने माना है कि बिहार में वीआईपी का जनाधार बढ़ा है. पार्टी प्रवक्ता राजेश राठौड़ के मुताबिक, पिछले कुछ महीने में मुकेश सहनी ने जो मेहनत की है उसका परिणाम है कि वीआईपी पार्टी का जनाधार बढ़ा है. लेकिन सबको साथ लेकर चलने की बात होनी चाहिए. बिहार में महागठबंधन पूरी तरह एकजुट है और अगर मेगा-एलायंस में शामिल किसी पार्टी का वोट बढ़ता है तो आखिरी परिणाम तो महागठबंधन के पक्ष में ही आएगा.

मुकेश सहनी ने कहा है किसी एक पार्टी या किसी एक व्यक्ति के इशारे पर महागठबंधन नहीं चलेगा, बल्कि इसमें सभी की राय आवश्यक होगी. मुकेश सहनी ने कहा है कि बिहार में महागठबंधन का नेतृत्व कांग्रेस को करनी चाहिए, क्योंकि राष्ट्रीय पार्टी है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि राजनीति में कोई दरवाजा बंद नहीं होता है. सियासत में उनके रिश्ते बीजेपी और तेजस्वी, दोनों से बेहतर हैं. आगामी विधानसभा चुनाव में 35 से 40 सीटों पर विकासशील इंसान पार्टी की दावेदारी बनती है. सिमरी बख्तियारपुर में 25 हजार वोट लाकर वीआईपी ने साबित कर दिया है कि बिहार में उसका जनाधार है.

विधानसभा के उपचुनाव में सत्तारूढ़ बीजेपी और जेडीयू को उम्मीद के मुताबिक सफलता नहीं मिली. दूसरी तरफ उपचुनाव के नतीजे कहीं न कहीं महागठबंधन के लिए उत्साह बढ़ाने वाला था, लेकिन महागठबंधन के घटक वीआईपी के मुकेश साहनी ने जिस तरह से बयान दिए हैं, उससे कई तरह के संकेत साफ मिलते हैं.