बिहार: मुंगेर में गंगा उफान पर, खतरे के निशान के करीब पहुंचा जलस्तर

गंगा के जलस्तर में लगातर वृद्धि होने के कारण गंगा किनारे सटे शहर के गोढ़ी टोला, भेलवा घाट, चायं टोला, बेलन बजार आदि स्थानों के घरों में पानी घुस गया है.

बिहार: मुंगेर में गंगा उफान पर, खतरे के निशान के करीब पहुंचा जलस्तर
खतरे के निशान से 51 सेंटीमीटर नीचे बह रही है गंगा.

मुंगेर : बिहार के मुंगेर (Munger) में गंगा के जलस्तर में इन दिनों लगातार वृद्धि जारी है. इसको लेकर गंगा (Ganga) से सटे दियारा और निचले क्षेत्र के लोगों की परेशानी बढ़ने लगी है. गंगा का जलस्तर 38.82 सेमी दर्ज किया गया है जो कि खतरे के निशान से 51 सेंटीमीटर नीचे बह रही है. वहीं, जिले में खतरे का निशान 39.33 सेमी है. अगर  रफ्तार ऐसी ही रही तो एक दो दिन के अंदर खतरे के निशान को पार कर सकती है.

वहीं, गंगा के जलस्तर में लगातर वृद्धि होने के कारण गंगा किनारे सटे शहर के गोढ़ी टोला, भेलवा घाट, चायं टोला, बेलन बजार आदि स्थानों के घरों में पानी घुस गया है. इसके कारण लोगों को काफी परेशनी हो रही है.

गंगा पार पंचायत की बात करें तो जाफरनगर पंचायत की सीताचरण बिन्द टोली, कुतलुपुर, तारापुर दियारा के दीवानी टोला फुलकिया, मुहली, टिकारामपुर, नौवागढ़ी उत्तरी पंचायत के चौर क्षेत्र के अलावा विभिन्न पंचायतों में गंगा के पानी से फसलें डूबने लगी हैं. वहीं, कई गांव के सड़कों पर गंगा का पानी बह रहा है. इसके कारण आवगमन बाधित है.

लाइव टीवी देखें-:

फसल डूबने से किसान भी परेशान हैं. मवेशियों के लिए चारे की दिक्कत हो रही है. भेलवा घाट के मुखबरी चायं टोला के शहरी ग्रामीणों का कहना है कि गंगा का पानी घरों में घुस जाने के कारण काफी परेशानी हो रही है. वहीं, घर में रखा सारा समान भींग गया. इसके कारण काफी परेशनी हो रही है.