close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजनेता से ज्योतिष बने रामविलास पासवान, कहा- 'राजनीति में जितनी भविष्यवाणी की सब सच हुआ'

नीतीश कुमार ही आगामी चुनाव में बिहार में एनडीए का चेहरा रहेंगे और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा. उनके नाम कोई विवाद नहीं बीजेपी के नेताओ में मेरी बात होती रहती है. 

राजनेता से ज्योतिष बने रामविलास पासवान, कहा- 'राजनीति में जितनी भविष्यवाणी की सब सच हुआ'
नीतीश कुमार के सीएम चेहरे को लेकर जेडीयू को सहयोगी दल एलजेपी का भी साथ मिल गया.

पटना: 2020 में एनडीए  (NDA)का चेहरा कौन हो इस सवाल को लेकर बिहार में सियासी बहस छिड़ी हुई है. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्व पर बीजेपी के अंदरखाने से सवाल खड़े हुए तो उनके ही सहयोगी डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने नीतीश कुमार को कप्तान बताते हुए आगामी विधानसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ने की बात कह डाली है. अब नीतीश कुमार के चेहरे पर जेडीयू को सहयोगी दल एलजेपी का भी साथ मिल गया.

एलजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि मुख्यमंत्री का चेहरा बार-बार नहीं बदलता. नीतीश कुमार ही आगामी चुनाव में बिहार में एनडीए का चेहरा रहेंगे और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा. उनके नाम कोई विवाद नहीं बीजेपी के नेताओ में मेरी बात होती रहती है. विधानसभा चुनाव में 225 से अधिक सीट जीतकर एनडीए सरकार बनाएगी.

 

राजनीति में कभी मौसम वैज्ञानिक के नाम से मशहूर एलजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री इन दिनों ज्योतिष भी बन गए हैं. केंद्र सरकार के 100 दिन पूरे होने पर रामविलास पासवान ने कहा है कि राजनीति में मैंने जो भी भविष्यवाणियां की वो सारी सही साबित हुई. उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2015 से पहले मैने कहा था कि राज्य में महागठबंधन की सरकार नहीं चलेगी और ऐसा ही हुआ. रामविलास ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले कहा था कि एनडीए चुनाव में 350 से ज्यादा सीटें जीतेगी, और वही हुआ.

रामविलास ने यह स्वीकार किया कि देश में मंदी का माहौल है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामकाज की भी सराहना की और कहा कि उन्होंने जितना वादा किया था उससे ज्यादा काम किया. देश में प्याज, आलू और टमाटर के दामों में तेज बढ़ोतरी पर रामविलास पासवान ने कहा है कि साल में तीन महीनों का दौर ऐसा आता है जब आलू, प्याज और टमाटर के दाम बढ़ते हैं और यह सामान्य बात है.

रामविलास पासवान ने देश में मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर सवाल उठाया और कहा कि इस मामले में कठोर कानून बनाकर इसे रोकने की कोशिश होनी चाहिए और इसकी सजा के लिए अगर मौत का भी प्रावधान किया जाता है तो वह भी कम होगा.

रामविलास पासवान देश के ऐसे नेता है जो पहले ही यह रुख देख लेते है की देश में किस पार्टी की हवा चल रही है किसकी सरकार बनेगी यही कारण है की वह उस पार्टी से गठबंधन कर लेते है इसी से लालू यादव ने रामविलास पासवान को मौसम वैज्ञानिक पहली बार कहा था उस समय रामविलास पासवान को लालू का यह बयान सही नहीं लगा था अब रामविलास पासवान खुद राजनीति के मौसम वैज्ञानिक अपने को कहने लगे है.