close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हजारीबाग: बेटा होने पर पति ने दोस्तों के साथ मिलकर की दुष्कर्म की कोशिश, कराया गर्भपात

महिला थाना प्रभारी का कहना है कि 6 जून को कार्रवाई करेत हुए ससुरालवालों को हिरासत में लिया गया लेकिन बाद में बॉन्ड भर कर छोड़ दिया गया. फिलहाल मामले की जांच चल रही है. 

हजारीबाग: बेटा होने पर पति ने दोस्तों के साथ मिलकर की दुष्कर्म की कोशिश, कराया गर्भपात
महिला ने पति के दोस्तों पर भी दुष्कर्म का प्रयास करने का आरोप लगाया है.

हजारीबाग: भ्रूण हत्या के खिलाफ काफी ठोस पहल सरकार एवं सामाजिक संगठनों के द्वारा किए गए हैं लेकिन अब तक इस पर पूरी तरह से विराम नहीं लगाया जा सका है. झारखंड के हजारीबाग में एक ऐसी ही घटना देखने को मिली है जहां हजारीबाग के रानी सती भंडार में रहने वाली एक महिला ने पुलिस से शिकायत की है कि उसे बेटा नहीं होने पर प्रताड़ित किया जा रहा है. 

 महिला ने एफआईआर में कहा है कि मेरी मर्जी के बिना गर्भपात करा दिया गया है. महिला ने ये भी आरोप लगाया कि उसके पति अपने तीन दोस्तों के साथ नशे में धुत नौ बजे बजे रात को पहुंचे और कहा कि पुत्र का जन्म नहीं हो पा रहा है इसलिए आज से हम तीन दोस्तों के के साथ मिलकर काम करेंगे इसके बाद पति के तीन मित्र दुष्कर्म का प्रयास करने लगे.  

इस पूरे मामले में परिवारवालों का कहना है कि ये सारी बातें हम परिजनों को फंसाने के लिए की गई है. मेरे या मेरे किसी भी परिवार के सदस्यों के द्वारा एक रूपए का भी डिमांड कभी नहीं किया गया. उन्होंने यह भी बताया कि हमने रांची में बिना दहेज के शादी करवाई थी लेकिन पायल शादी के बाद से ही पांच सौ प्रतिदिन जेब खर्च मांगने लगी थी.

उन्होंने यह भी कहा कि पायल ने जो इल्जाम लगाया है कि उसकी बेटी का जन्म उसके मायके में हुआ है तो वह भी गलत है क्योंकि हमारे पास प्रमाण है कि उसकी बेटी का जन्म हजारीबाग के ही एक निजी नर्सिंग होम में हुआ है. इस मामले की पूरी जांच होनी चाहिए.

वहीं, महिला थाना प्रभारी का कहना है कि 6 जून को कार्रवाई करेत हुए ससुरालवालों को हिरासत में लिया गया लेकिन बाद में बॉन्ड भर कर छोड़ दिया गया. फिलहाल मामले की जांच चल रही है.