झारखंड : डिजिटल इंडिया के साथ खूंटी की महिलाएं बन रही हैं आत्मनिर्भर

महिलाएं घर बैठे वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन, राशन उपलब्धता जैसी योजनाओं को लेकर खुलकर बात कर पा रही हैं और जानकारी इकट्ठा कर खुद सारे काम निपटा रही हैं. 

झारखंड : डिजिटल इंडिया के साथ खूंटी की महिलाएं बन रही हैं आत्मनिर्भर
झारखंड के खूंटी में महिलाएं डिजिटल साक्षर हो रही हैं

रांची : खूंटी प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया को साकार कर रहा है. आज खूंटी की अशिक्षित महिलाएं शिक्षा ग्रहण कर नई तकनीक से जुड़ रही हैं. ये महिलाएं ना सिर्फ नई तकनीक सीख रही हैं साथ ही आसानी से रोजगार भी पा रही हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को धरातल पर उतारने के लिए रघुवर सरकार ने एक और कदम उठाया है. यहां के नक्सल प्रभावित रनिया प्रखंड की महिलाएं लगातार तरक्की की राह पर आगे बढ़ रही हैं. तोरपा प्रखण्ड के बासकी, पतराटोली और चुरगी में महिलाएं अब पढ़-लिख कर प्रधानमंत्री के सपने को साकार कर रही हैं और महिलाओं की मदद कर रही हैं. राज्य की उम्रदराज और अनपढ़ महिलाएं अब साक्षर होकर डिजिटल इंडिया की ओर कदम बढ़ा रही हैं.

मोबाइल पर अंकों की पहचान कर नंबर का मिलान कर अब महिलाएं बेहिचक बातचीत करने लगी हैं. गांव की अनपढ़ महिलाएं अब मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर सरकारी योजनाओं की जानकारी ले पा रही हैं. वृद्ध महिलाएं पढ़-लिखकर जहां रोज़गार से जुड़ रही हैं. महिलाएं घर बैठे वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन, राशन उपलब्धता जैसी योजनाओं को लेकर खुलकर बात कर पा रही हैं और जानकारी इकट्ठा कर खुद सारे काम निपटा रही हैं. महिलाओं को साक्षर करने के लिए रात्रि पाठशाला का भी आयोजन किया जाता है.

(एक्सक्लुसिव फीचर)