पटना: वर्ल्ड डायबिटीज डे पर जुटे दिग्गज, बीमारी के आंकड़ों पर जताई चिंता

World Diabetes Day: डा. अजय कुमार ने कहा कि देश के 130 करोड़ की आबादी में 15 करोड़ की आबादी डायबिटीज प्रभावित हैं. उन्होंने कहा कि 2030 तक ये आंकड़ा 30 करोड़ के आसपास पहुंच जाएगा.

पटना: वर्ल्ड डायबिटीज डे पर जुटे दिग्गज, बीमारी के आंकड़ों पर जताई चिंता
वर्ल्ड डायबिटीज डे पर लोगों को जागरूक किया गया.

पटना: गुरुवार को वर्ल्ड डायबिटीज डे (World Diabetes Day) मनाया गया. इस अवसर पर पटना के बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन में जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया. इसमें एसोसिएशन से जुड़े सदस्यों और बच्चों ने डायबिटीज से बचने के गुर सीखे. 

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथी के रुप में मौजूद प्रदेश के जाने माने मधुमेह चिकित्सक डॉक्टर अजय कुमार शामिल हुए. डा. अजय कुमार ने कहा कि देश के 130 करोड़ की आबादी में 15 करोड़ की आबादी डायबिटीज प्रभावित हैं. उन्होंने कहा कि 2030 तक ये आंकड़ा 30 करोड़ के आसपास पहुंच जाएगा.

उन्होंने कहा कि साउथ ईस्ट एशिया (South East Asia) में 134 फीसदी की दर से डायबिटीज के मरीज लगातार बढ रहे हैं. अगर किसी शख्स की मां को डायबिटीज है तो उसे 65 फीसदी डायबिटीज होने की संभावना होती है. 

वहीं, अगर पिता को डायबिटीज हो तो उसे 45 फीसदी मधुमेह होने की संभावना रहती है. डा. अजय कुमार ने कहा कि देश को मधुमेह से मुक्त करना है तो सबसे पहले गर्भवती महिलाओं के पोषण को दुरुस्त करना होगा. ताकि गर्भ में पल रहा बच्चा शुरू से ही स्वस्थ रहे और मधुमेह की बीमारी से बचा रहे.

उन्होंने कहा कि आज के दौर में खानपान की गड़बड़ी, चिंता, व्यायाम न करना और ठीक से नींद न लेना मधुमेह को निमंत्रण देने जैसा है. इसलिए लोगों को इन चीजों पर ध्यान देने की जरुरत है.