बोकारो: सेल्फी के चक्कर में जीवन को खतरे में डाल रहे युवा, बड़े हादसे को दे रहे हैं निमंत्रण

बोकारो में पुल पर कोई चलती बाइक का हाथ छोड़कर तो कई पीछे सवार को गाड़ी का हैंडल पकड़वा कर सेल्फी खिंचते हुए सूरमा आपको मिल जाएंगे. जो जान को जोखिम में डालकर इस तरह का काम कर रहे हैं

बोकारो: सेल्फी के चक्कर में जीवन को खतरे में डाल रहे युवा, बड़े हादसे को दे रहे हैं निमंत्रण
बोकारो: सेल्फी के चक्कर में जीवन को खतरे में डाल रहे युवा, बड़े हादसे को दे रहे हैं निमंत्रण. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बोकारो: सेल्फी के चक्कर में लोगों की जान चली गई, ऐसी खबरें अमूमन आते रहती हैं, लेकिन सेल्फी लेने के चक्कर में जीवन को खतरे में डालने का क्रेज अब भी खत्म नहीं हुआ. बोकारो में पुल पर खड़े होकर युवकों को सेल्फी खिंचने की प्रवृत्ति लगातार देखने को मिल रही है, जिसकी वजह से एकाध बार तो दुर्घटनाएं भी हुई हैं.

बोकारो में पुल पर कोई चलती बाइक का हाथ छोड़कर तो कई पीछे सवार को गाड़ी का हैंडल पकड़वा कर सेल्फी खिंचते हुए सूरमा आपको मिल जाएंगे. जो जान को जोखिम में डालकर इस तरह का काम कर रहे हैं, लेकिन इसे देखने वाला कोई नहीं.

बोकारो जिले के बोकारो थर्मल थाना क्षेत्र के अर्ध निर्मित ओवरब्रिज में आए दिन इस तरह का नजारा देखने को मिल रहा है. युवा जान को जोखिम में डालकर सेल्फी के चक्कर में हादसे को निमंत्रण दे रहे हैं. जहां कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. क्योंकि पुल के रेलिंग के ऊपर चढ़कर फोटो खींचाना कभी भी दुर्घटना को निमंत्रण दे रहा है. 

साथ ही चलती बाइक में सेल्फी खिंचाना भी हादसे को निमंत्रण देने के बराबर है. लेकिन सुरक्षा को लेकर स्कूल में कोई व्यवस्था नहीं की गई है ताकि इस तरह के हादसे को रोका जा सके. यहां धनबाद, हजारीबाग, और रामगढ़ के साथ साथ बोकारो के ग्रामीण क्षेत्रों से भी युवा पहुंच रहे हैं.