close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना: ज़ी बिहार झारखंड ने RERA समिट का किया आयोजन, घर खरीदारों की समस्याओं पर हुई चर्चा

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार रेरा के चेयरमैन अफजल अमानुल्ला ने कहा कि रेरा रियल स्टेट को स्वस्थ्य और हेल्दी बनाना चाहती है.

पटना: ज़ी बिहार झारखंड ने RERA समिट का किया आयोजन, घर खरीदारों की समस्याओं पर हुई चर्चा
ज़ी बिहार-झारखंड ने पटना में रेरा समिट का आयोजन किया.

पटना: ज़ी बिहार- झारखंड लोगों तक खबरें पहुंचाने के साथ ही समाज के हर पहलू से खुद को जोड़े रखता है. सामाजिक सरोकार के मुद्दे हों या कारोबार जगत की दिक्कतें. ज़ी बिहार- झारखंड सभी को मंच देने की कोशिश करता है.

इसी कड़ी में बिहार की राजधानी पटना के होटल मौर्या में रेरा (RERA) समिट का आयोजन किया गया. इस मंच के जरिए ज़ी बिहार- झारखंड ने रेरा, बिल्डर्स और बॉयर्स तीनों के बीच सेतु बनने की कोशिश की. 

कार्यक्रम का उद्घाटन बिहार रेरा के चेरयमैन अफजल अमानुल्ला ने किया. इस दौरान ज़ी मीडिया बिहार के रेजिडेंट एडिटर स्वंय प्रकाश, क्रेडाई (CREDAI) के चेयरमैन नरेंद्र कुमार, बिहार क्रेडाई के चेयरमैन मणिकांत और बीआईए (BIA) के अध्यक्ष रामलाल खेतान कार्यक्रम में शामिल हुए.

RERA

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार रेरा के चेयरमैन अफजल अमानुल्ला ने कहा कि हमारे पास लोगों की कुल 710 शिकायतें आई हैं, जिसमें से हमने 402 को नोटिस जारी किया है. 

उन्होंने कहा कि हम लगातार शिकायतों का निराकरण करने की कोशिश कर रहे हैं. साथ ही जो भी शिकायतें बाकी हैं, उस पर भी तेजी से काम हो रहा है. अमानुल्ला ने कहा कि रेरा रियल स्टेट को स्वस्थ्य और हेल्दी बनाना चाहती है.

हर किसी की चाहत होती है कि उसका अपना आशियाना हो. लेकिन सपनों के महल को हासिल करने से पहले कई ऐसे सवाल होते हैं, जिनसे निवेशक दो-चार होते हैं. 

वहीं बिल्डर्स की अपनी दिक्कतें होती हैं. नियम-कायदों से लेकर आर्थिक हालात जैसे कई मोर्चों पर उन्हें जूझना पड़ता है. ऐसे में लगता है कि कोई तो हो जो उनकी बात को समझ सके और निवेशकों के डर को दूर कर सके. 

इसके साथ ही बिल्डर्स की समस्याओं और आशंकाओं का समाधान देने में मदद कर सके और इसी जरिए का नाम है ज़ी बिहार झारखंड, जिसने पटना में दूसरी बार रेरा समिट का आयोजन किया.

इस कार्यक्रम के जरिए ज़ी बिहार-झारखंड ने लोगों की समस्याओं को रेरा चेयरमैन और सदस्यों के सामने बेबाकी से उठाया. साथ ही कई तरह के सवाल भी पूछे और उनके जवाब भी तलाशने की ईमानदारी से कोशिश की.