close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

स्मृति को ‘डियर’ संबोधित करने पर बिहार के मंत्री अशोक चौधरी अभी भी कायम

बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को ‘डियर’ संबोधित करने के अपने आधार पर डटे रहकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आशा भोसले को इस शब्द से संबोधित करने सहित कई संदर्भों का हवाला दिया।

पटना : बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को ‘डियर’ संबोधित करने के अपने आधार पर डटे रहकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आशा भोसले को इस शब्द से संबोधित करने सहित कई संदर्भों का हवाला दिया।

चौधरी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर केंद्रीय श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय की तरफ से ईरानी को लिखे गए एक पत्र में ‘डियर’ का हवाला दिया और आरोप लगाया कि वह इस मामले पर ‘दोहरा रुख’ अपना रही हैं। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री के साथ ट्वीटर पर अपनी बहस का हवाला देते हुए चौधरी ने बुधवार को कहा कि आपको दूसरों का ‘डियर’ कहना ठीक लगा लेकिन मैंने यही किया तो आपत्ति हो गई। बिहार के मंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के पूर्व के ट्वीट को रीट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘डियर’ जेंडर न्यूट्रल है और ईरानी को ‘रेन एंड मार्टिन’ की ग्रामर किताब पढ़ने की सलाह दी।

बिहार कांग्रेस के भी अध्यक्ष चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले की ट्वीट का जिक्र किया, ‘डियर आशाभोसले ताई, आपके बेटे के निधन पर मर्माहत हूं। दुख की इस घड़ी में मेरी भावनाएं आपके साथ है। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने चौधरी का पक्ष लिया और इस विवाद को जातिवादी रंग देते हुए कहा कि ‘क्या एक दलित डियर नहीं कह सकता?’ कांग्रेस कार्यकर्ता भी आज ‘डियर’ की जंग में शामिल हो गए और पटना में पार्टी मुख्यालय सदाकत आश्रम पहुंचने पर अपने मंत्री को ‘डियर अशोक चौधरीजी’ कहकर संबोधित किया।

बिहार के शिक्षा मंत्री ने कल केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को ‘डियर’ कहकर संबोधित किया जिसके बाद दोनों के बीच ट्विटर पर शब्दयुद्ध छिड़ गया।