बीजेपी नेता के तल्ख बोल, कार्यकर्ताओं पर हमले नहीं रुके तो घर में घुसकर आंखें निकाल लेंगे

बीजेपी की महिला नेता सरोज पांडेय ने बेहद तल्ख शब्दों में कहा कि अगर इस तरह के हमले नहीं रुके तो वह आरोपियों की आंखें निकाल लेंगी.

बीजेपी नेता के तल्ख बोल, कार्यकर्ताओं पर हमले नहीं रुके तो घर में घुसकर आंखें निकाल लेंगे
छत्तीसगढ़ बीजेपी की नेता सरोज पांडेय की छवि फायर ब्रिगेड नेता के रूप में है. तस्वीर साभार: Facebook
Play

नई दिल्ली: केरल में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में बीजेपी पूरे राज्य में प्रदर्शन कर रही है. रविवार को प्रदर्शन के दौरान बीजेपी की महिला नेता सरोज पांडेय ने बेहद तल्ख शब्दों में कहा कि अगर इस तरह के हमले नहीं रुके तो वह आरोपियों की आंखें निकाल लेंगी. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक 'जन रक्षा यात्रा' में शामिल होने पहुंची बीजेपी महासचिव सरोज पांडेय ने कहा, 'हमने मार्च की शुरुआत इसलिए की है कि आने वाले समय में अगर बार-बार हमारे कार्यकर्ताओं के साथ इस तरह आंख दिखाने की स्थिति होगी तो हम घर में घुसकर आंखें निकाल लेंगे.' केरल में RSS से जुड़े लोगों पर हमलों के विरोध में बीजेपी 15 दिनों की जन रक्षा यात्रा कर रही है. इस यात्रा में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे दिग्गज नेता भी शामिल हो चुके हैं.

इससे पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी बेहद सख्त स्वर में कहा था कि केरल की सीपीएम सरकार ने एक सुंदर प्रदेश को राजनीतिक कब्रिस्तान बना दिया. उन्होंने कहा कि सीपीएम सोचती है कि वो हिंसा कर हमें डरा सकती है, लेकिन बीजेपी सिर कटवा सकती है लेकिन सिर झुका नहीं सकती. हमने देश बचाने के लिए लड़ाई करने की कसम खाई है.

ये भी पढ़ें: BJP और RSS कार्यकर्ताओं की हत्या के लिए सीएम विजयन जिम्मेदार: अमित शाह

वाम शासन के तहत कथित 'लाल आतंक' का पर्दाफाश करने के लिए आयोजित जन रक्षा यात्रा में स्मृति ईरानी ने कहा कि कम्युनिस्ट पार्टी लोकतंत्र में भरोसा नहीं करती. उन्होंने आरोप लगाया कि माकपा शासनकाल में आरएसएस..भाजपा के 286 कार्यकर्ताओं की हत्याएं हुयी हैं और उनमें से 84 लोग मुख्यमंत्री पी विजयन के गृह नगर कन्नूर जिले के थे.

ये भी पढ़ें: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कन्नूर के राजराजेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना की

सूचना एवं प्रसारण और कपड़ा मंत्री स्मृति ने यह आरोप भी लगाया कि ‘‘राष्ट्र विरोधियों’’ की मदद करने का कम्युनिस्टों का इतिहास रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि 1962 के भारत-चीन युद्ध के दौरान कम्युनिस्टों ने चीन का पक्ष लिया था. उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के. राजशेखरन के नेतृत्व में पदयात्रा लोकतंत्र के मूल्यों की रक्षा के लिए है.

ये भी पढ़ें: CPM यूथ विंग ने ट्रांसजेंडरों के लिए दरवाजे खोल, 9 मेंबर्स को संगठन में शामिल किया

स्मृति ने यह भी कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं को माकपा हमलों के शिकार हुए लोगों के परिवारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा होना चाहिए. केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह ने अलापुझा के चेरथला में एक पदयात्रा सभा को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों ने दुनिया भर में वामपंथ को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल ने माकपा को त्याग दिया है और वे त्रिपुरा में भी हारने वाले हैं. सिंह ने कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार देश के विकास पर जोर दे रही है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.