close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर BJP अल्पसंख्यक मोर्चा ने कहा - यह ऐतिहासिक निर्णय है

भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चा ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के निर्णय की प्रशंसा करते इसे ऐतिहासिक निर्णय बताया.

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर BJP अल्पसंख्यक मोर्चा ने कहा - यह ऐतिहासिक निर्णय है
मोर्चा ने 370 हटाने का विरोध करने वाली विपक्षी पार्टियों को आड़े हाथ लिया.

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चा ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के निर्णय की प्रशंसा करते इसे ऐतिहासिक निर्णय बताया. मोर्चा ने इस कदम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की प्रशंसा की. जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक के अनुसार जम्मू-कश्मीर का दो केंद्र शासित प्रदेशों में बंटवारा किया गया है. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो केंद्र शासित प्रदेश होंगे. लद्दाख बिना विधानवाला केंद्र शासित प्रदेश होगा. मोर्चा द्वारा जारी बयान में कहा गया, "यह भारत के इतिहास का ऐतिहासिक निर्णय है और इससे जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना 70 वर्ष के संघर्ष के बाद पूरा होगा."  

मोर्चा ने कहा, "अनुच्छेद 370 के कारण राज्य की प्रगति नहीं हुई." मोर्चा ने 370 हटाने का विरोध करने वाली विपक्षी पार्टियों को आड़े हाथ लिया. बयान में कहा गया, "अनुच्छेद 370 हटाने का विरोध करने वाले दल इसको न्यायसंगत सिद्ध करने में नाकाम रहे. हकीकत यह है कि अनुच्छेद 370 के चलते वहां महिलाओं के साथ भेदभाव हुआ, केंद्र की योजनाओं और शिक्षा के अधिकार का लाभ नहीं मिल पाया."   

 

बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चे के महासचिव एसएम अकरम ने आरोप लगाया कि अनुच्छेद 370 और 35A ने जम्मू-कश्मीर की पूर्ववर्ती सरकारों के गलत कामों पर पर्दा डाला और राज्य के लोगों को केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं मिलने दिया. मोर्चा ने जम्मू-कश्मीर के लोगों से शांति बनाए रखने और सरकार का सहयोग करने की अपील की.