शरद पवार के साथ मंच पर दिखेगा बीजेपी का ये दिग्गज नेता, ठाकरे का माना जाता है 'दुश्मन'
topStories1hindi1478998

शरद पवार के साथ मंच पर दिखेगा बीजेपी का ये दिग्गज नेता, ठाकरे का माना जाता है 'दुश्मन'

निमंत्रण पाकर बीजेपी सांसद ने छत्रपति शाहू महाराज को याद किया और कुश्ती को बढ़ावा देने के लिए उनकी प्रतिबद्धता के बारे में बात करते हुए कहा कि उन्हें महाराष्ट्र से प्यार है और वो जरूर टूर्नामेंट में शिरकत करेंगे.

शरद पवार के साथ मंच पर दिखेगा बीजेपी का ये दिग्गज नेता, ठाकरे का माना जाता है 'दुश्मन'

महाराष्ट्र में विरोधी खेमे के नेता शरद पवार के साथ भारतीय जनता पार्टी के नेता और तेजतर्रार सांसद बृजभूषण शरण सिंह मंच शेयर करेंगे. दोनों एक ही मंच पर साथ-साथ नजर आने वाले हैं. ये मौका होगा महाराष्ट्र केसरी कुश्ती टूर्नामेंट के फाइनल का. बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह वही नेता हैं जिन्होंने उत्तर प्रदेश में एक बार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे की यात्रा को रोकने की बात कही थी. इसके बाद से ही दोनों को एक दूसरे का धुर-विरोधी माना जाने लगा.

बृजभूषण शरण सिंह जनवरी 2023 में शरद पवार के साथ महाराष्ट्र केसरी कुश्ती टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले के दौरान मंच पर मौजूद होंगे. दरअसल, बृजभूषण शरण सिंह रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (WFI) के प्रेसिडेंट हैं और इस वजह से वो महाराष्ट्र के पुणे में होने वाले मशहूर महाराष्ट्र टूर्नामेंट के फाइनल में शिरकत करेंगे.

बृजभूषण कैसरगंज से पांच बार से सांसद रहे हैं. वहीं, एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार WFI के पूर्व अध्यक्ष हैं इसलिए वो भी इस फाइनल मुकाबले के दौरान यहां मौजूद रहेंगे. WFI के प्रेसिडेंट बृजभूषण सिंह को इस टूर्नामेंट के फाइनल में शरीक होने के लिए महाराष्ट्र राज्य कुश्ती संघ (MSWA) के अध्यक्ष रामदास तदास, पुणे के पूर्व मेयर मुरलीधर मोहोल की तरफ से निमंत्रण मिला है. दिल्ली में बृजभूषण सिंह को MSWA की तरफ से कहा गया कि वो इस प्रतियोगिता के लिए अतिथि के तौर पर जरूर आएं, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया.

निमंत्रण पाकर बीजेपी सांसद ने छत्रपति शाहू महाराज को याद किया और कुश्ती को बढ़ावा देने के लिए उनकी प्रतिबद्धता के बारे में बात करते हुए कहा कि उन्हें महाराष्ट्र से प्यार है और वो जरूर टूर्नामेंट में शिरकत करेंगे.

बीजेपी सांसद बृजभूषण सिंह छह महीने पहले अचानक सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने मनसे प्रमुख राज ठाकरे को चुनौती देते हुए कहा था कि अगर वो अयोध्या आए तो वो उनकी यात्रा को रोक देंगे. ठाकरे राम मंदिर का दर्शन करने के लिए आने वाले थे. हालांकि, तबीयत खराब होने की वजह से ठाकरे ने अपनी यात्रा रद्द कर दी थी.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

 

Trending news