अमित शाह का कांग्रेस और AAP पर करारा हमला, 'दंगा पीड़ितों के जख्मों पर छिड़क रहे नमक'

 दिल्ली विधानसभा ने 1984 में सिखों के खिलाफ हुए दंगों पर एक प्रस्ताव पारित किया है जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया गया 'भारत रत्न' का सम्मान वापस लिए जाने की मांग की गई है. 

अमित शाह का कांग्रेस और AAP पर करारा हमला, 'दंगा पीड़ितों के जख्मों पर छिड़क रहे नमक'
अवैध प्रवासियों पर शाह ने दोहराया कि बीजेपी सरकार 'घुसपैठियों' की पहचान कर उन्हें देश से निकाल देगी.

नई दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (AAP) पर हमला करते हुए कहा कि दिल्ली विधानसभा में एक प्रस्ताव को पारित करने को लेकर जो हुआ वो 1984 के सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों के जख्मों पर 'नमक छिड़कने' के समान है. शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर अवैध प्रवासियों का समर्थन करने का भी आरोप लगाया.

गौरतलब है कि शुक्रवार को दिल्ली विधानसभा ने 1984 में सिखों के खिलाफ हुए दंगों पर एक प्रस्ताव पारित किया है जिसमें यह मांग की गई है कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया गया 'भारत रत्न' का सम्मान वापस लिया जाए लेकिन AAP ने कांग्रेस नेता के संदर्भ से खुद को तेजी से अलग कर लिया.

बाद में, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्पष्ट किया कि पूर्व प्रधानमंत्री के संबंध में पक्तियां सदन के समक्ष रखे गए मूल प्रस्ताव का हिस्सा नहीं थी. उन्होंने कहा कि यह एक सदस्य द्वारा हस्तलिखित संशोधन था जो इस तरह से पारित नहीं हो सकता है. शाह ने विवरण में गए बिना कहा, ''विधानसभा और बाद में जो हुआ वो सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों के घावों पर नमक छिड़कने के समान है.'' उन्होंने बीजेपी के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में कहा, ''इसने आम आदमी पार्टी के दोहरे चरित्र को उजागर कर दिया है.'' 

बीजेपी प्रमुख ने कांग्रेस के संदर्भ में आरोप लगाया कि दंगा पीड़ितों को कई साल तक न्याय नहीं दिया गया क्योंकि ''दंगों के अपराधी (आरोपियों) के संरक्षक थे.'' शाह ने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार ने चार साल में विशेष जांच टीम गठित करके पीड़ितों के लिए न सिर्फ 'न्याय आश्वस्त' किया बल्कि प्रभावित परिवारों को मुआवजा भी दिया. उन्होंने राफेल सौदे को लेकर राहुल गांधी पर भी निशाना साधा. शाह ने कहा, ''राफेल सौदे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बावजूद, वह अब भी झूठ बोल रहे हैं और आरोप लगा रहे हैं.'' 

अवैध प्रवासियों पर शाह ने दोहराया कि बीजेपी सरकार 'घुसपैठियों' की पहचान कर उन्हें देश से निकाल देगी. उन्होंने मुद्दे पर कांग्रेस के रूख को लेकर सवाल किया. बीजेपी नेता ने कहा, ''एनआरसी की कवायद असम में शुरू हुई और जैसे ही यह हुई वैसे ही राहुल बाबा एवं कंपनी ने रोना धोना शुरू कर दिया. मैं राहुल से पूछना चाहता हूं कि आतंकी विस्फोटों में मरने वाले देशवासियों की उन्हें कोई चिंता है?'' उन्होंने पूछा, ''आप उन्हें लेकर क्यों चिंतित हैं. क्या वे आपके मौसेरे भाई हैं?'' 

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के बाद सत्ता में लौटने का विश्वास जताते हुए शाह ने कहा कि पार्टी की जीत का मतलब जातिवाद और भाई-भतीजावाद पर राष्ट्रवाद की विजय होगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी 2019 में 2014 से ज्यादा जनादेश लेकर सत्ता में लौटेगी. AAP को निशाने पर लेते हुए शाह ने कहा कि खुद को आम आदमी बताने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सुरक्षा कर्मियों के साथ चलते हैं. उन्होंने कहा, ''अस्पताल, स्कूल, सीसीटीवी कैमरे और बसों में महिला सुरक्षा के लिए मार्शल कहां हैं?'' उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार दिल्ली में अपने वायदे पूरे करने में 'नाकाम' रही है.

शाह ने दावा किया कि मोदी सरकार ने दिल्ली के लिए अपने वायदे पूरे किए हैं और बीजेपी 2019 में अपने काम का ब्यौरा मतदाताओं को देगी. उन्होंने कहा कि यह 'दुर्भाग्यपूर्ण' है कि केजरीवाल सरकार ने पीएम मोदी की लोकप्रियता बढ़ने के डर से दिल्ली में आयुष्मान भारत योजना को लागू नहीं करने दिया. शाह ने कांग्रेस पर नेशनल हेराल्ड इमारत का 'निजी संपत्ति' के तौर पर इस्तेमाल कर करोड़ों रुपये का 'गोलमाल' करने का आरोप लगाया. उन्होंने इल्जाम लगाया कि पार्टी ने आयकर बचाने के लिए 600 करोड़ रुपए छुपाए.

(इनपुट भाषा से)