close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हम कश्मीर को कभी भारत से अलग नहीं होने देंगे : अमित शाह

 अमित शाह ने कहा कि आज पूरा देश राहुल गांधी जी से जानना चाहता है कि ये कौन सा रिश्ता है जो लश्कर-ए-तैयबा और गुलाम नबी आजाद के विचार एक समान हो जाते हैं.

हम कश्मीर को कभी भारत से अलग नहीं होने देंगे : अमित शाह
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने जम्मू में एक जनसभा को संबोधित किया. (फोटो साभार - @BJP4India)

जम्मू: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जम्मू में एक जनसभा संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. अमित शाह ने कहा कि आज पूरा देश राहुल गांधी जी से जानना चाहता है कि ये कौन सा रिश्ता है जो लश्कर-ए-तैयबा और गुलाम नबी आजाद के विचार एक समान हो जाते हैं. 

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के प्रमुख नेता गुलाम नबी आजाद ने एक बयान दिया जिसे में दोहरा भी नहीं सकता, इधर वह बयान देते हैं और उधर लश्करे-ए-तैयबा उस बयान का समर्थन कर देता है. मैं पूछना चाहता हूं कांग्रेस अध्यक्ष से कि आपके नेता के बयान का समर्थन लश्करे-ए-तैयबा कर रहा है, यह किस प्रकार की फ्रीक्वैंसी मैचिंग लश्कर-ए-तैयबा और कांग्रेस के बीच है. यह जरा देश को बता दीजिए. 

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी का सरकार में बने रहने का कोई सवाल ही नहीं था क्योंकि जम्मू और कश्मीर में बराबर विकास नहीं हो रहा था. मोदी सरकार ने कई कोशिशें की लेकिन जम्मू और कश्मीर के बीच भेदभाव बना रहा. इसलिए हमने फैसला किया कि हम विपक्ष मे रह कर विरोध करेंगे. 

शाह ने कहा, 'हम कश्मीर को कभी भी भारत से अलग नहीं होने देंगे. जम्मू-कश्मीर इस देश का अभिन्न हिस्सा है.' उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को इस देश के साथ मिलाने के लिए श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने प्रजा परिषद आंदोलन के साथ अपना पूरा जीवन दे दिया. शाह ने कहा, 'इस बात (जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है) को बदला नहीं जा सकता' अमित शाह ने कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज की आलोचना की. उन्होंने कहा, ‘श्रीमान सोज आप सैकड़ों जन्म लेंगे लेकिन बीजेपी कश्मीर को भारत से अलग नहीं होने देगी.’ 

शाह ने जम्मू में की भाजपा की रणनीति की समीक्षा
इससे पहले पीडीपी सरकार से भाजपा द्वारा समर्थन वापस लिए जाने के बाद अमित शाह ने जम्मू - कश्मीर की अपनी पहली यात्रा के दौरान आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए पार्टी की तैयारी और रणनीति की समीक्षा की.  कुछ दिन पहले ही उनकी पार्टी ने जम्मू कश्मीर में पीडीपी नीत सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था. 

पार्टी की युवा इकाई के सदस्यों ने हवाई अड्डे से राज्य गेस्ट हाउस तक बाइक रैली निकालकर शाह का शानदार स्वागत किया. भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, 'भाजपा अध्यक्ष ने कई बैठकों की अध्यक्षता की और संगठन के काम - काज , आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों और पार्टी की रणनीति की समीक्षा की.' उन्होंने बताया कि अगले चुनाव के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए शाह ने पार्टी की चुनाव समिति की बैठक की अध्यक्षता की. 

(इनपुट - भाषा)