दिल्ली को मिली जरूरत से ज्यादा Oxygen, Arvind kejriwal नहीं कर पाए स्टोर: BJP

बीजेपी का कहना है कि इस ऑक्सीजन क्राइसिस (Oxygen Crisis) को अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) मैनेज कर सकते थे जो नहीं किया.  ऑक्सीजन की कमी की वजह से जितनी जान गई हैं, उसके लिए केजरीवाल सरकार जिम्मेदार है. केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए. 

दिल्ली को मिली जरूरत से ज्यादा Oxygen, Arvind kejriwal नहीं कर पाए स्टोर: BJP
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: ऑक्सीजन किल्लत (Oxygen Crisis) को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार आमने-सामने है. एक तरफ दिल्ली सरकार लगातार आरोप लगा रही है कि राजधानी को जरूरत के हिसाब से कम ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है वहीं बीजेपी ने दिल्ली सरकार पर गुमराह करने का आरोप लगाया है.

'केजरीवाल भ्रम की स्थिति फैला रहे'
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, अरविन्द केजरीवाल भ्रम की स्थिति फैला रहे हैं. ऑक्सीजन को लेकर PESO की रिपोर्ट आई है जिसके मुताबिक दिल्ली में ऑक्सीजन की एक्सेस सप्लाई की जा रही थी लेकिन दिल्ली स्टोर नहीं कर पा रही थी.  TURNAROUND टाइम बढ़ गया था जिसका खामियाजा पड़ोसी राज्यों को भुगतना पड़ रहा था. दिल्ली सरकार ने चुपके से फोन करके कहा कि सप्लाई रोक दो.

PESO की रिपोर्ट का हवाला 
PESO की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बीजेपी ने दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी के आरोप पर बड़ा हमला किया है. बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि PESO की रिपोर्ट से साफ हो गया है कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं थी, बल्कि दिक्कत इस बात की रही की दिल्ली में ऑक्सीजन की स्टोरेज की कमी थी. संबित पात्रा ने अरविंद केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाया कि दिल्ली में ऑक्सीजन स्टोरेज की कमी होने की वजह से केजरिवाल चुपके-चुपके ऑक्सीजन निर्माता कंपनी को कम ऑक्सीजन देने की बात कहते रहे. 

जनता को भ्रम में डाला
संबित पात्रा ने कहा, अलग-अलग तारीख को दिल्ली को जो ऑक्सीजन सप्लाई (Oxygen Supply) हुई उसको दिल्ली सरकार ने यह कह कर वापस किया कि हमारे पास स्टोरेज की सुविधा नहीं है. BJP का आरोप है कि केजरीवाल ने स्टोरेज की कोई व्यवस्था नहीं की और हाहाकार मचाया. दिल्ली की जनता को भ्रम में डाला और केंद्र को कोर्ट की गाली पड़ी. पात्रा ने कहा, केजरीवाल ऑक्सीजन ऑडिट की मना करते रहे, आज पता चल रहा है क्यों मना कर रहे थे.

खामियाजा दूसरे राज्यों को भी भुगतना पड़ा
PESO की रिपोर्ट के अनुसार, आज से एक हफ्ते पहले दिल्ली में ऑक्सीजन की अतिरिक्त सप्लाई हो रही थी लेकिन दिल्ली इसे स्टोर नहीं कर पा रही थी. इससे टैंकर का टर्न अराउंड टाइम बढ़ गया था, इसका खामियाजा आस-पास के दूसरे राज्यों को भी भुगतना पड़ा. दिल्ली सरकार जब अतिरिक्त ऑक्सीजन की डिमांड कर रही थी, तब तक केजरीवाल जी दिल्ली में स्टोरेज की कोई अतिरिक्त व्यवस्था नहीं कर पाए थे. 

VIDEO

'केजरीवाल माफी मांगें'
बीजेपी का कहना है कि इस क्राइसिस को केजरीवाल मैनेज कर सकते थे जो नहीं किया. उन्होंने कहा, केजरीवाल कहते थे कि केंद्र सौतेला व्यवहार कर रही है जबकि दिल्ली सरकार जनता के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है. ऑक्सीजन की कमी की वजह से जितनी जाने गई हैं, उसके लिए केजरीवाल सरकार जिम्मेदार है. केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए. 

यह भी पढ़ें: आंध्र प्रदेश: सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से 11 मरीजों ने तोड़ा दम

'केजरीवाल ने हाहाकार मचाया'
पात्रा ने कहा, अरविंद केजरीवाल के काम करने का तरीका बहुत अनूठा है. पहले हाहाकार मचाया, लेकिन व्यवस्था कुछ नहीं की. पहले ऑक्सीजन की मांग की, दूसरे राज्यों पर भी आरोप लगाए.  जब ऑक्सीजन दी गई, तो आपने हाथ खड़े कर दिए कि हमारे पास स्टोर करने की जगह नहीं है. दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी का मसला कोर्ट में है और जो रिपोर्ट है उसका भी संज्ञान कोर्ट लेगी और फैसला लेगी.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.