close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्‍लास्टिक मुक्‍त देश की परिकल्‍पना लेकर गांधी जयंती मनाएंगी बीजेपी

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि 2 अक्टूबर गांधी जयंती को दौड़ का आयोजन होगा, जिसके माध्यम से 2 किमी तक बिखरी पड़ी प्लास्टिक को इकठ्ठा कर प्लास्टिक मुक्त क्षेत्र बनाना है.

प्‍लास्टिक मुक्‍त देश की परिकल्‍पना लेकर गांधी जयंती मनाएंगी बीजेपी
इस यात्रा के माध्यम से गांधीवादी सिद्धांतों और सामाजिक बुराईयों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है.

भोपाल: राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी की जंयती पर निर्धारित कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ और फिट इंडिया अभियान शुरू किया है, इसे हमें आगे बढ़ाना है. 2 अक्टूबर गांधी जयंती को दौड़ का आयोजन होगा, जिसके माध्यम से 2 किमी तक बिखरी पड़ी प्लास्टिक को इकठ्ठा कर प्लास्टिक मुक्त क्षेत्र बनाना है.

उन्होंने कहा कि गांधी जी के विचार हमेशा प्रासंगिक रहे है. उनकी जयंती पर प्रत्येक लोकसभा में गांधी संकल्प यात्रा निकलेगी. इस यात्रा के माध्यम से स्वच्छता, खादी, वृक्षारोपण और प्लास्टिक मुक्त गांव के साथ गांवों में युवाओं की टोली खडी करना है. उन्होंने यात्रा के माध्यम से मोदी सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं और नीतियों को नीचे तक पहुंचाने की बात कही है.

कार्यकारी अध्यक्ष  जेपी नड्डा ने आगामी संगठनात्मक कार्यक्रमों के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि हर बार की तरह 25 सितंबर को अंत्योदय के प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर अंत्योदय और सेवा कार्यक्रम होगा. इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्ति का जो संकल्प लिया है, उसके अनुरूप दीनदयाल जयंती पर कोई भी एक परिसर प्लास्टिक मुक्त हो ऐसा संकल्प लें. 

उन्होंने दीनदयाल जयंती पर सभी विचारधाराओं के महापुरूषों की प्रतिमाओं के आसपास स्वच्छता अभियान चलाए जाने की बात कही है. वहीं, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव भूपेन्द्र यादव ने गांधी संकल्प यात्रा के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि सभी सांसद विधानसभा को इकाई बनाकर 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर के बीच गांधी संकल्प यात्रा करेंगे. इस यात्रा के माध्यम से गांधीवादी सिद्धांतों और सामाजिक बुराईयों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है.