close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP का आरोप, दिल्‍ली सरकार ने स्‍कूलों के कमरे बनवाने में किया 200 करोड़ का घोटाला, ACB को सौंपी गई जांच

बीजेपी के प्रवक्‍ता हरीश खुराना और मीडिया रिलेशन डिपार्टमेंट के प्रमुख नीलकांत बक्शी ने 200 करोड़ रपए के घोटाले से जुड़ी एक शिकायत नई दिल्‍ली जिला के पुलिस उपायुक्‍त मधुर वर्मा को सौंपी है.

BJP का आरोप, दिल्‍ली सरकार ने स्‍कूलों के कमरे बनवाने में किया 200 करोड़ का घोटाला, ACB को सौंपी गई जांच
दिल्‍ली के करावल नगर विधायक कपिल मिश्र ने स्‍कूल दिल्‍ली सरकार के दो मंत्रियों पर सीधे तौर पर घोटाला करने का आरोप लगाया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने दिल्‍ली सरकार के शिक्षा विभाग पर 200 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया है. इस बाबत बीजेपी के प्रवक्‍ता हरीश खुराना और मीडिया रिलेशन डिपार्टमेंट के प्रमुख नीलकांत बक्शी ने एक शिकायत नई दिल्‍ली जिला के पुलिस उपायुक्‍त मधुर वर्मा को सौंपी है. वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए डीसीपी मधुर वर्मा ने इस मामले को एंटी करप्‍शन विभाग के स्‍थानांतरित कर दिया है. 

नई दिल्‍ली जिला के डीसीपी मुधर वर्मा की तरफ से एंटी करप्‍शन ब्रांच के एडिशनल कमिश्‍नर ऑफ पुलिस को भेजे गए पत्र में लिखा गया है कि 2 जुलाई को बीजेपी के प्रवक्‍ता और पार्टी के मीडिया सेल के प्रभारी नीलकातं बक्‍शी ने एक शिकायत सौंपी थी. जिसमें उन्‍होंने दिल्‍ली सरकार के शिक्षा विभाग पर 200 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया है. यह आरोप दिल्‍ली सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा बनाए गए स्‍कूल के कमरों 12748 कमरों और इमारतों के निर्माण को लेकर लगाए गए हैं. 

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश: किसान क्रेडिट कार्ड योजना में फर्जी दस्तावेज के आधार पर निकाली गई रकम

डीसीपी मधुर वर्मा के अनुसार, बीजेपी के नेताओं का आरोप है कि शिक्षा विभाग ने इन इमारतों के निर्माण में आई लागत को बहुत अधिक बढ़ा कर दिखाया है. उन्‍होंने एंटी करप्‍शन विभाग को यह भी बताया है कि इस बाबत दिल्‍ली के करावल नगर इलाके से विधायक कपिल मिश्रा की तरफ से भी एक शिकायत मिली है. जिसमें दिल्‍ली सरकार के मंत्री मनीष सिसौदिया और सतेंद्र जैन पर स्‍कूल की इमारत और कमरों के निर्माण में घोटाले का आरोप लगाया गया है.
 
LIVE TV:

डीसीपी मधुर वर्मा ने अपने पत्र में इस बात का उल्‍लेख किया है दिल्‍ली पुलिस के आयुक्‍त से अनुमति लेने के बाद 200करोड़ रुपए के घोटाले से जुड़ा यह केस जांच के लिए एंटी करप्‍शन ब्रांच के सुपुर्द किया जा रहा है.