अबू धाबी में हिंदू मंदिर बनाने की चलाई मुहिम, अब 1000 करोड़ की लागत से बना रहे 'महाभारत'

बीआर शेट्टी, अबू धाबी के पांच सबसे धनी भारतीय में से एक हैं. 2015 में जब पीएम मोदी यूएई गए थे तो उनके स्‍वागत कार्यक्रम की देखरेख का पूरा जिम्‍मा डॉ शेट्टी के ही कंधों पर था.

अबू धाबी में हिंदू मंदिर बनाने की चलाई मुहिम, अब 1000 करोड़ की लागत से बना रहे 'महाभारत'
बीआर शेट्टी (साभार: brshetty.com)

अबू धाबी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले हिंदू मंदिर की आधारशिला रखी है. 2020 तक इस मंदिर का निर्माण होगा. यूएई में करीब 30 लाख भारतीय रहते हैं. अभी तक इस तबके के लिए राजधानी अबू धाबी में कोई मंदिर नहीं था. लिहाजा धार्मिक कार्यकलापों के लिए यहां के भारतीयों को दुबई तक जाना पड़ता था, जोकि अबू धाबी से तीन घंटे की दूरी पर स्थित है. संभवतया इसी पृष्‍ठभूमि में भारतीय मूल के कारोबारी डॉ बीआर शेट्टी ने अबू धाबी में मंदिर निर्माण के लिए मुहिम छेड़ी थी. वह हिंदू मंदिर के निर्माण के लिए गठित समिति के अध्‍यक्ष हैं.

इस मुहिम के सफलतापूर्वक अंजाम के बाद शेट्टी ने 'महाभारत' पर एक फिल्‍म बनाने की कुछ समय पहले घोषणा की थी. वैसे तो इस विषय पर सीरियल और फिल्‍में पहले भी बन चुकी हैं लेकिन 1000 करोड़ की लागत से इस फिल्‍म के निर्माण की घोषणा ने सबको हैरान कर दिया. यह इस विषय पर अब तक का सबसे बड़ा सिने प्रोजेक्‍ट कहा जा रहा है.

अबू धाबी में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- भारत में अब लोग पूछते हैं 'मोदी जी' कब होगा?

डॉ बीआर शेट्टी
बीआर शेट्टी, अबू धाबी के पांच सबसे धनी भारतीय में से एक हैं. 2015 में जब पीएम मोदी यूएई गए थे तो उनके स्‍वागत कार्यक्रम की देखरेख का पूरा जिम्‍मा डॉ शेट्टी के ही कंधों पर था. वह मनी ट्रांसफर कंपनी 'यूएई एक्‍सचेंज' के एमडी और सीईओ हैं. उनके पास क्‍लीनिकल फार्मेसी की डिग्री है और यूएई में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं की सबसे बड़ी कंपनी न्‍यू मेडिकल सेंटर (एनएमसी) के मालिक हैं. इनका पूरा नाम बावागुथु रघुराम शेट्‌टी है.

इनका जन्‍म कर्नाटक के उडुपी के एक बेहद सामान्‍य परिवार में 1942 में हुआ था. शुरुआत में उनके परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर थी. शेट्टी ने नगर पालिका के सेनिटेशन के लिए सबसे पहले काम शुरू किया था. लेकिन इसमें उनको खास सफलता नहीं मिली और नतीजतन काम की तलाश के सिलसिले में ओपन वीजा लेकर यूएई चले गए.

मुस्लिम शेखों के देश में क्‍यों बन रहा पहला हिंदू मंदिर?

500 रुपये से शुरू कर बने 5000 करोड़ के मालिक
वहां पर उनकी फार्मासिस्‍ट की डिग्री काम आई. उन्‍होंने सेल्‍समैन के रूप में काम शुरू किया. घर-घर जाकर दवाईयां बेचीं और यूएई के पहले मेडिकल रेप्रिजेंटेटिव बने. वहां पर काम करते हुए एक दिन अचानक उन्‍होंने बिजनेस शुरू करने का फैसला किया. जब उन्‍होंने यह फैसला किया तो उनकी जेब में तकरीबन 500 रुपये थे. लेकिन उनकी स्‍थानीय डॉ इस्‍माइल फहीमी ने मदद की. नतीजतन 1975 में एनएमसी निओ फार्मा के नाम से कंपनी शुरू की. उसके बाद उन्‍होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. जहां पर शेट्टी ने पहला क्लीनिक खोला था, वहां अब स्‍पेशियलटी हॉस्पिटल है. फिलहाल बीआर शेट्टी अबू धाबी की न्यू मेडिकल सेंटर ग्रुप ऑफ कंपनीज और यूएई एक्‍सचेंज के एमडी और सीईओ हैं. करीब चार साल पहले प्रसिद्ध पत्रिका फोर्ब्स ने आकलन किया था कि शेट्टी के पास करीब 5100 करोड़ की संपत्ति है.

UAE: PM मोदी जिस शहजादे से मिले, उनकी शादी इसलिए गिनीज वर्ल्‍ड बुक में है दर्ज

बीआर शेट्टी का कारोबार 30 देशों में फैला हुआ है. साल 2014 में बीआर शेट्टी प्राइवेट इक्विटी ग्रुप ने विदेशी मुद्रा कंपनी 'ट्रैवेक्‍स' को खरीद लिया. बीआर शेट्टी ने 2003 में फार्मास्‍यूटिकल निर्माता एनएमसी निओ फार्मा की स्‍थापना की. इस कंपनी में 40 हजार लोग काम करते हैं. उन्हें सबसे ज्यादा कमाई विदेशी मुद्रा के एक्सचेंज से होती है.

'द महाभारत'
बीआर शेट्टी की यह फिल्‍म 'द महाभारत' भारत में छह भाषाओं में रिलीज होगी. इसको दो हिस्‍सों में बनाया जाएगा. पहले भाग की शूटिंग इसी साल सितंबर में शुरू होगी और 2020 में इसको रिलीज किया जाएगा. इसकी रिलीज के तीन महीने के बाद फिल्‍म के दूसरे हिस्‍से को जारी किया जाएगा. बीआर शेट्टी इस फिल्‍म का निर्माण मोशन पिक्‍चर के साथ मिलकर कर रहे हैं. विज्ञापन फिल्‍मों के निर्माण से प्रसिद्धि हासिल करने वाले वीए श्रीकुमार मेनन इसका डाइरेक्‍शन करेंगे.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.