close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बाढ़ में भी मुस्‍तैद हैं BSF के जवान, सीमा पर चौकसी के साथ चला रहे रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन

सीमा पर कई फिट पानी होने के बावजूद, बीएसएफ के जवान किसी भी तक की गैरकानूनी गतिविधि और घुसपैठ को रोकने के लिए लगातार गश्‍त कर रहे हैं. 

बाढ़ में भी मुस्‍तैद हैं BSF के जवान, सीमा पर चौकसी के साथ चला रहे रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन
बाढ़ के चलते भारत-म्‍यांमार बार्डर पर कई फीट पानी एकत्रित हो गया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: मिजोरम में आई बाढ़ से अंतराष्‍ट्रीय सीमा भी अधूती नहीं रही है. भारत और म्‍यांमार की अंतरराष्‍ट्रीय सीमा पर बाढ़ के चलते कई फीट पानी इकट्ठा हो गया है. बावजूद इसके, अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा पर तैनात बार्डर सिक्‍योरिटी फोर्स के जवान अभी भी मुस्‍तैदी से अपनी पोस्‍ट पर डटे हुए हैं. सीमा पर कई फिट पानी होने के बावजूद, बीएसएफ के जवान किसी भी तक की गैरकानूनी गतिविधि और घुसपैठ को रोकने के लिए लगातार गश्‍त कर रहे हैं. 

म्‍यांमार और भारत की सीमा पर तैनात बीएसएफ के जवानों की जिम्‍मेदारी यहीं तक सीमित नहीं हैं. सीमा की चौकसी के बाद, बाकी बचे जवान इन दिनों बाढ़ की चपेट में आए गांवों में रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन चला रहे हैं. बीएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, 4 जुलाई से जारी भारी बारिश के चलते मिजोरम के सीमावर्ती गांवों से व्‍यापक जान और माल का नुकसा हुआ है. उन्‍होंने बताया कि बीएसएफ के जवान न केवल सीमा पर प्रथम पंक्ति के रखवाले के रूप में प्रतिवद्धता के साथ खड़े हैं, बल्कि प्राकृतिक आपदा के समय में सीमा पर रहने वाले नागरिकों को सुगम बनाने और जान-माल की रक्षा का प्रयास भी कर रहे हैं. 

उन्‍होंने बताया कि मिजोरम में भारत बांग्‍लादेश सीमा से सटे मामित और लुंलेई जिले में तैनात बीएसएफ के जवान लगातार बाढ़ प्रभावित ना‍ग‍रिकों को भोजन, दवाएं और अन्‍य जरूरी सामान मुहैया करा रहे हैं. उन्‍होंने बताया कि निरंत बारिश के कारण, सीमा से सटे इलाके की भी नदियों और नालों में पानी का स्‍तर खतरे के निशान से ऊपर गया है. जिसके चलते, बीएसएफ की एक बटालियन, लुंगलेई जिले में स्थिति सीमा चौकियों सहित सीमा से सटे गांव भी जलमग्‍न हो गए हैं. 

उन्‍होंने बताया कि इस तरह की प्राकृतिक आपदा की स्थिति में सीमा सुरक्षा बल की भूमिका दोहरी हो गई है. एक तरफ बीएसएफ के जवान सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं, तो दूसरी ओर सीमावर्ती नागरिकों को सुरक्षित स्‍थान पर पहुंचा रहे हैं. उन्‍होंने बताया कि उपमहानिरीक्षक सीडी अग्रवाल की देखरेख में बीएसएफ के जवानों ने तबलाबाग, बिंदियासुरा और लामथाई गावों के नागरिकों के लिए राहत और बचाव का अभियान शुरू किया है. इस अभियान में बाढ़ में फंसे नागरिकों को सुरक्षित स्‍थानों तक पहुंचाया जा रहा है.