close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BSF की पाकिस्तान को चेतावनी, 'अब हम जो करेगें उसका जिम्मेदार वो खुद होगा'

हमले से एक दिन पहले सीमा पर दिखा था पाकिस्तान का हेलीकॉप्टर.

BSF की पाकिस्तान को चेतावनी,  'अब हम जो करेगें उसका जिम्मेदार वो खुद होगा'
फाइल फोटो

नई दिल्लीः बीएसएफ जवान पर हमला करने से एक दिन पहले बीएसएफ ने इस इलाके में पाक हेलीकॉप्टर को देखा था जो कुछ देर के लिए सीमा के नजदीक हवा में चक्कर लगा कर वापस चला गया था शहीद जवान नरेन्द्र कुमार की हत्या के दूसरे दिन आज एक बार फिर बीएसएफ के अधिकारियों ने फोन के जरिये पाक रेंजर्स के अधिकारियों से बात कर कहा है कि आपने हमारे जवान को गोली मारकर हत्या कर दी है और अब जो कुछ भी होगा उसका जिम्मेदार पाकिस्तान होगा.

बीएसएफ के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आज करीब एक बजे फोन पर जब बीएसएफ के अधिकारी ने पाक रेंजर्स के समक्ष अपने जवान हत्या का मामला उठाया तो पाकिस्तानी रेजेंर्स से इससे साफ इन्कार कर दिया कि उन्होंने गोली चलाई है उल्टा पाकिस्तान के रेंजर्स ने भारत पर आरोप लगा दिया . पाकिस्तानी रेजंर्स ने कहा कि बीएसएफ ने ही अपने जवान की हत्या की है और उन पर उल्टे सीधे आरोप लगा रहा है.

मंगलवार को बीएसएफ जवान की हत्या के दिन गृह मंत्री राजनाथ सिंह स्मार्ट फेंसिग के उद्घाटन के लिए जम्मू दौरे पर थे बीएसएफ ने एक दिन पहले ही पाक रेजेंर्स को इसकी जानकारी दे दी थी ताकि सीमा पर गोलीबारी न हो हालांकि खुफिया एजेंसियों ने बीएसएफ को इस बात का अलर्ट भी दिया था कि इंटरनेशनल के बॉर्डर के उस पार पाकिस्तान रेंजर्स की ड्रेस में कुछ संदिग्ध मूवमेंट दिखाई पड़ रहा है.

ज़ी न्यूज को मिली जानाकारी के मुताबिक बीएसएफ के 8 जवान टैक्ट्रर के जरिये फेंसिंग को पार कर भारतीय इलाके मेंघास काटने गये थे लेकिन जैसे ही वो वहां पहुंचे पाक रेंजर्स ने अचानक फायरिंग शुरु कर दी दोनों देशों के SOP के मुताबिक बीएसएफ ने सरकंडा काटने से पहले उस इलाके के पाक रेंजर के कमांडर को दी थी सूचना ताकि कोई वहां से गलतफहमी में पाक गोली न चला दे. लेकिन इसके बावजूद पाकिस्तान ने हमले की कारवाई को अंजाम दिया.

यह भी पढ़ेंः INDvsPAK मुकाबले से पहले पाकिस्‍तान की नापाक हरकत, सीमा पर BSF जवान को धोखे से मारी गोली

जहां एक तरफ पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान भारत से रिश्ते सुधारने की बात करते है वहीं पाकिस्तान की बैट एक्शन टीम ने चुप चाप घात लगाकर बीएसएफ के जवान नरेंद्र कुमार की हत्या कर दी जब पिछले मंगलवार को सीमा पर गश्त लगाने निकले अपने जवान नरेन्द्र कुमार के गायब होने की जानकारी सामने आई तो बीएसएफ के अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए आनन फानन में तलाशी शुरू की गई लेकिन शहीद जवान की कोई भी जानकारी नही मिल रही थी लेकिन उसके बाद जो हुआ वो और भी परेशान कर देने वाला था. 

जब BSF को अपने जवान नरेंद्र कुमार के गायब होने की जानकारी मिली तो करीब 2:00 बजे BSF ने पाकिस्तानी रेंजर्स के अधिकारियों को फोन किया  लेकिन फोन की घंटी बजती रही और पाकिस्तानी रेंजर्स ने फोन नहीं उठाया करीब तीन बार कॉल करने के बाद पाकिस्तानी रेंजर्स फोन पर आए और उन्होंने कहा कि वह अपने सीनियर अधिकारियों को इसके बारे में जानकारी देंगे काफी देर तक इंतजार करने के बाद पाकिस्तानी रेंजर्स ने फोन पर BSF के अधिकारियों से बातचीत की और इससे वह साफ मुकर गए कि उन्होंने अपनी तरफ से BSF के पोस्ट पर किसी भी तरीके की फायरिंग की है यहां तक की उन्होंने इस बात से भी इनकार कर दिया कि उनके पास कि उन्होंने बीएसएफ जवान को अगवा किया है.

इसके बाद BSF ने पाकिस्तानी रेंजर से कहा कि वह बॉर्डर पर जाकर के अपने गायब हुए जवान की खोजबीन करना चाहते हैं और ऐसे में पाकिस्तानी रेंजर्स किसी भी तरीके की फायर ना करें .5:00 बजे पाकिस्तान इस बात के लिए तैयार हुआ कि BSF  पार्टी सीमा पर आ सकती है हालांकि काफी खोजबीन करने के बाद  नरेंद्र कुमार की डेड बॉडी वहां मौजूद जंगली घास के बीच पाई गई 

बीएसएफ पूरे वक्त  परेशान नहीं उसका जवान कहां गायब हो गया है थक हारकर  बीएसएफ के अधिकारियों ने भारतीय सेना के अधिकारियों को फोन करके कहा कि वह डीजीएमओ स्तर पर पाकिस्तान से उठाएं .सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक करीब 2:30 बजे भारत और पाकिस्तान के डीजीएमओ लेवल पर बातचीत हुई जिसमें सेना ने भी पाकिस्तान से BSF के  जवान के बारे में जानकारी मांगी लेकिन एक बार फिर से पाकिस्तान ने किसी भी जानकारी को शेयर करने से मना कर दिया और यहां तक इस बात से इनकार करते रहे कि उनकी तरफ से गोली नहीं चली है हालांकि हैरान करने वाली बात यह है कि BSF ने.इस पूरे मामले पर चुप्पी साध ली है.

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान की गोलीबारी से जम्मू-कश्मीर के रामगढ़ सेक्टर में बीएसएफ जवान शहीद

भारत ने सैन्य अभियान निदेशालय स्तर की वार्ता के दौरान बीएसएफ जवान की हत्या पर पाकिस्तान के समक्ष विरोध दर्ज कराया है. सेना के सूत्रों ने कहा, 'बातचीत के दौरान भारत ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ जवान को निशाना बनाकर किए गए संघर्षविराम उल्लंघन के खिलाफ विरोध दर्ज कराया.' घटना के बाद सुरक्षाबलों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर ‘हाई अलर्ट’ जारी कर दिया गया था. 

सूत्रों ने बताया कि हेड कांस्टेबल कुमार को 3 गोली लगीं और उनका शव छह घंटे के बाद भारत-पाक बाड़बंदी के पास मिल पाया, क्योंकि पाकिस्तानी पक्ष ने सीमा पर संयम बनाए रखने और बीएसएफ के खोजी दलों पर गोलीबारी न होना सुनिश्चित करने के आह्वान पर 'कोई प्रतिक्रिया नहीं दी