सीबीआई ने DRI में तैनात ADG समेत 3 को किया गिरफ्तार, इतने लाख की रिश्वत लेने के आरोप

सीबीआई ने DRI में तैनात ADG और एक बिचौलिय को 25 लाख की रिश्वत लेने के आरोप किया है.

सीबीआई ने DRI में तैनात ADG समेत 3 को किया गिरफ्तार, इतने लाख की रिश्वत लेने के आरोप

नई दिल्ली: CBI ने DRI के एडिश्नल डायरेक्टर जनरल चंद्रशेखर समेत तीन लोगों को 3 करोड़ की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है. इन लोगों को 25 लाख रुपये बतौर पेशगी लेते हुए गिरफ्तार किया है. इनमें से एक आरोपी राजेश ढांढा ADG चंद्रशेखर का दोस्त है और दूसरा आरोपी अनुप जोशी एजेंट है. 

दरअसल ADG DRI चंद्रशेखर लुधियाना जोन के इंचार्ज हैं. लुधियाना जोन के अंदर चार रिजनल सेंटर, अमृतसर, चंडिगढ़, जम्मू और श्रीनगर आते हैं. लुधियाना जोन ने जुन 2019 में एक एजेंसी पर छापेमारी की थी जोकि एक्सपोर्टर हाउस को सरकारी एजेंसी से क्लियरिंग दिलाने का काम करती है. उसी छापेमारी में DRI ने एक्सपोर्टर के कुछ दस्तावेज जब्त किए और फिर क्लियरिंग हाउस एजेंट और अपने दोस्त के जरिये उस एक्सपोर्टर से 3 करोड़ रुपये मांगे गए.

ADG DRI के दोस्त राजेश और क्लियरिंग एजेंट ने इस एक्सपोर्टर को कहा कि अगर DRI कारवाई से बचना चाहते हो तो 3 करोड़ रुपये ADG चंद्रशेखर को देने होंगे. इसके बाद उस एकस्पोर्टर ने CBI को इस बात की जानकारी दी. सीबीआई ने जाल बिछाया और फिर 25 लाख रुपये के साथ एजेंट और ADG के दोस्त को गिरफ्तार किया और बाद में ADG चंद्रशेखर को भी गिरफ्तार किया गया.

डीआरआई के इतने बड़े अधिकारी को शायद पहली बार किसी जांच एजेंसी ने गिरफ्तार किया है. डीआरआई वित्त मंत्रालय के अंदर आने वाला राजस्व विभाग के अंर्तगत काम करती है. डीआरआई का अपना खुद का खुफिया विभाग जो काफी मजबूत है. ये विभाग देश के बाहर से आने वाले सामानों जैसे, एक्सपोर्ट-इमपोर्ट, ड्रग्स, नकली नोट, हथियारों की तस्करी के साथ-साथ देश के दूसरे खुफिया विभागों को भी जानकारी देने में मदद करता है.