CBI ने मांगा गवर्नर से मिलने का समय, बंगाल पुलिस पर कर सकती है अवमानना का केस

बताया जा रहा है कि सीबीआई राज्यपाल से अधिकारियों को गिरफ्तार करने के मामले में हस्तक्षेप करने की मांग करेगी.

CBI ने मांगा गवर्नर से मिलने का समय, बंगाल पुलिस पर कर सकती है अवमानना का केस
ममता बनर्जी केंद्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गई हैं. उनके साथ कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी धरने पर बैठे हुए हैं.

कोलकाता: पश्‍च‍िम बंगाल में रविवार (3 फरवरी) को कोलकाता पुलिस कमिश्‍नर से पूछताछ करने गई सीबीआई की टीम को राज्‍य पुलिस ने हिरासत में ले लिया था. इसके बाद से ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी सीबीआई राज्य में असमंजस की स्थिति में नजर आ रही थी. वहीं, अब सीबीआई इस मामले को लेकर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी के पास जाएगी. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, सीबीआई ने इस मामले पर बातचीत करने के लिए राज्यपाल से समय मांगा है.

बताया जा रहा है कि सीबीआई राज्यपाल से अधिकारियों को गिरफ्तार करने के मामले में हस्तक्षेप करने की मांग करेगी. सूत्रों का कहना है कि सीबीआई सुप्रीम कोर्ट में कोलकाता पुलिस के खिलाफ अवमानना का केस भी दर्ज करवा सकती है. वहीं, ममता बनर्जी केंद्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गई हैं. वे पूरी रात कोलकाता के मेट्रो चैनल पर धरना देंगी. उनके साथ कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी धरने पर बैठे हुए हैं. उधर, कोलकाता के सीजीओ कॉम्प्लेक्स में स्थित सीबीआई के दफ्तर पर सीआरपीएफ तैनात कर दी गई है. सीआरपीएफ की तैनाती के साथ ही कोलकाता पुलिस सीजीओ कॉम्प्लेक्स से हट गई है. 

इस मामले पर सीबीआई के अंतरिम निदेशक एम. नागेश्वर राव ने कहा कि हम कानूनी सलाह ले रहे हैं. वरिष्ठ कानूनी अधिकारियों की ओर से जो सुझाव सामने आएंगे हम उसी के हिसाब से कदम उठाएंगे. सूत्रों के अनुसार, सीबीआई सोमवार को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटा सकती है. सीबीआई के पूर्व अधिकारी भी यह मानते हैं कि सीबीआई को इस मौके पर सुप्रीम कोर्ट का ही दरवाजा खटखटाना चाहिए. क्‍योंकि इस केस की सुनवाई वह सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ही कर रही है.

सीबीआई के एक पूर्व अधिकारी नवनीत वासन ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पुलिस के पास सीबीआई के अधिकारियों को गिरफ्तार करने का कोई आधार नहीं है. यह सीधे तौर पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि पूछताछ की कार्यवाही कानून के अनुसार हो रही थी. उन्होंने कहा कि अब इस मामले पर सीबीआई को तत्काल सुप्रीम कोर्ट जाना चाहिए.