प्रद्युम्न की हत्या का सुराग तलाशने रायन स्कूल पहुंची CBI की टीम

प्रद्युम्न हत्याकांड का सुराग तलाशने के लिए सीबीआई की टीम शनिवार सुबह गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल पहुंची.

प्रद्युम्न की हत्या का सुराग तलाशने रायन स्कूल पहुंची CBI की टीम
सीबीआई ने गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल के सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या की जांच 22 सितंबर को अपने हाथ में ले ली.

प्रद्युम्न हत्याकांड का सुराग तलाशने के लिए सीबीआई की टीम शनिवार सुबह गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल पहुंची. जी न्यूज को मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई की टीम ने सबसे पहले स्कूल के बाथरूम का जायजा लिया. इसके अलावा प्रद्युम्न के क्लासरूम के साथ स्कूल की पूरी बिल्डिंग का मुआयना वहां की रिपोर्ट तैयार कर रही है. सीबीआई की टीम के साथ स्कूल कुछ कर्मचारी भी मौजूद हैं. इससे पहले शुक्रवार को सीबीआई ने गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या की जांच शुक्रवार (22 सितंबर) को अपने हाथ में ले ली. इससे कुछ ही घंटे पहले प्रद्युम्न के पिता ने धमकी दी थी कि एजेंसी ने यदि कल (शनिवार, 23 सितंबर) तक जांच शुरू नहीं की तो वह सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे. सीबीआई प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने कहा कि एजेंसी ने केंद्र सरकार से शुक्रवार (22 सितंबर) को एक अधिसूचना प्राप्त होने के बाद जांच अपने हाथ में ले ली. प्रक्रिया के अनुसार उसने गुरुग्राम पुलिस की प्राथमिकी फिर से दर्ज की.

उन्होंने कहा, ‘सीबीआई ने उपरोक्त मामले की जांच अपने हाथ में ले ली है जो गु्रुग्राम के भोंडसी पुलिस थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 302, हथियार कानून की धारा 25, पोक्सो कानून की धारा 12 और किशोर न्याय कानून की धारा 75 जिसे भारतीय दंड संहिता की धारा 34 के साथ पढ़ा जाए, के तहत दर्ज किया गया था.’ 

ये भी पढ़ें: प्रद्युम्न मर्डर केस : रायन ट्रस्टियों पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

मालूम हो कि दूसरी कक्षा का छात्र प्रद्युम्न आठ सितम्बर को स्कूल परिसर में मृत पाया गया था. इस मामले में उसी दिन स्कूल के एक बस कंडक्टर को गिरफ्तार किया गया था. इस बीच, प्रद्युम्न के पिता बरुण ठाकुर ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने देश के शीर्ष नेताओं से अपील की है कि इस ‘संवेदनशील मामले’ की सीबीआई जांच तेजी से कराई जाए. ठाकुर के वकील ने आरोप लगाया कि हरियाणा सरकार की सिफारिश के बाद भी सीबीआई जांच अब तक शुरू नहीं की गई है. उन्होंने कहा, ‘यदि सीबीआई की ओर से कल तक औपचारिक जांच शुरू नहीं की जाती है तो बरुण ठाकुर सोमवार (25 सितंबर) को उच्चतम न्यायालय का रुख करेंगे.