पाकिस्‍तान ने फिर की गोलाबारी, भारतीय की मौत पर बिफरे राजनाथ

रमजान में भी एलओसी पर पाकिस्‍तान की गोलाबारी लगातार जारी है. इसमें अब तक करीब आधा दर्जन लोगों की जान जा चुकी है. इस बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्‍तान को कड़ी चेतावनी दी है.

पाकिस्‍तान ने फिर की गोलाबारी, भारतीय की मौत पर बिफरे राजनाथ
बुधवार को भी पाकिस्‍तान की ओर से गोलाबारी हुई. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: रमजान के महीने में भी एलओसी पर पाकिस्‍तान की गोलाबारी लगातार जारी है. बुधवार को हुई ताजा गोलाबारी में कठुआ हीरानगर सेक्‍टर में एक और नागरिक की मौत हो गई जबकि दो घायल हो गए. वहीं अरनिया सेक्‍टर में एक और व्‍यक्ति घायल हो गया. इस बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्‍तान को कड़ी चेतावनी दी है. उन्‍होंने कहा कि बीएसएफ पाकिस्‍तान की ओर से गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दे. वहीं मंगलवार को जम्मू में आरएसपुरा, रामगढ़ व अरनिया सेक्टर में सीमा पार से गोलाबारी की गई थी. इसमें एक 8 माह की बच्ची की मौत हो गई और एक एसपीओ समेत 6 लोग घायल हुए थे. भारत ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया था जिसमें एक पाकिस्तानी रेंजर मारा गया. 

बीएसएफ को पता है कैसे जवाब देना है : राजनाथ
बीएसएफ के एक कार्यक्रम में गृहमंत्री ने कहा, पड़ोसी देश शांति नहीं चाहता है. हम गोली चलने पर उचित जवाब देंगे. गोली चलने पर हमारे जवानों को पता है कि उन्हें क्या करना है. जवाबी कार्रवाई पर जवानों से कोई कुछ नहीं पूछेगा. पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. 

पाक ने गोलाबारी रोकने के लिए लगाई थी गुहार
दो दिन पहले बीएसएफ की कार्रवाई से पाकिस्‍तान हिल गया था. उसने गोलाबारी रोकने की गुहार लगाई थी. लेकिन फिर अपनी पर उतर आया और रात में फिर से बिना किसी वजह के सीजफायर तोड़ा. पहले हुई गोलाबारी में बीएसएफ के 2 जवान शहीद हो गए थे व 4 नागरिकों की भी मौत हुई थी. गाहे-बगाहे पाकिस्तान के गोलाबारी करने से आरएसपुरा और अरनिया के 500 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है. प्रशासन हर संभव मदद मुहैया करा रहा है. पाकिस्तान की ओर से की जा रही फायरिंग में जनवरी से लेकर अब तक 38 लोगों की मौत हुई है. इसमें 19 सुरक्षाकर्मी शामिल हैं.