सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन में रूफ टॉप प्रणाली अपनायेंः केंद्र सरकार

सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिये केंद्र सरकार ने अपने मंत्रालयों, राज्यों और देशभर में शिक्षा संस्थानों से अपने पास छतों पर उपलब्ध खाली जगह का इस्तेमाल सौर रूफ टॉप प्रणाली के लिये करने को कहा है।

सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन में रूफ टॉप प्रणाली अपनायेंः केंद्र सरकार

नई दिल्ली: सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिये केंद्र सरकार ने अपने मंत्रालयों, राज्यों और देशभर में शिक्षा संस्थानों से अपने पास छतों पर उपलब्ध खाली जगह का इस्तेमाल सौर रूफ टॉप प्रणाली के लिये करने को कहा है।

सरकार ने 2022 तक राष्ट्रीय सौर मिशन के तहत 40 हजार मेगावाट ग्रिड से जुड़ी रूफ टॉप सौर बिजली उत्पादन क्षमता का लक्ष्य रखा है। नवीन एवं नवीकरणीय उर्जा मंत्रालय ने हाल में सभी केंद्रीय मंत्रालयों, राज्यों, सार्वजनिक क्षेत्र के संगठनों, शिक्षा संस्थानों, स्कूलों और कॉलेजों को पत्र लिखकर अपने भवन में ग्रिड से जुड़ी सौर रूफ टॉप प्रणाली-परियोजना लगाने को कहा है।

पत्र में कहा गया है कि सरकारी इमारतों पर बड़ी मात्रा में छत पर जगह खाली पड़ी है। यदि इसमें से थोड़ी जगह का भी इस्तेमाल किया जाए, तो हजारों मेगावाट सौर बिजली उत्पादन हासिल किया जा सकता है। एक केडब्ल्यूपी की सौर रूफ टॉप प्रणाली लगाने के लिए करीब दस वर्ग मीटर जगह की जरूरत होती है।