गांधी परिवार की सुरक्षा करेंगी लेवल-4 किस्म की बुलेट प्रूफ गाड़ियां, आईडी बम से भी नहीं होगा खतरा

लेवल-4 कारें बड़े आईडी विस्फोटकों को बड़े आराम से सह सकती हैं साथ ही इन पर एके-47 जैसे हथियारों के हमले का भी असर नहीं होता. जिससे वीवीआईपी को जान का खतरा भी नहीं होता.

गांधी परिवार की सुरक्षा करेंगी लेवल-4 किस्म की बुलेट प्रूफ गाड़ियां, आईडी बम से भी नहीं होगा खतरा
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: देश के जाने माने वीवीआईपी की सुरक्षा में लगी सीआरपीएफ (CRPF) ने फैसला किया है कि वो अपने काफिले में लेवल-4 किस्म की बुलेट प्रूफ गांड़ियों को शामिल करेगी. जिससे आईडी धमाके और आतंकी ग्रुपों की तरफ से किए गए किसी भी हमले को बड़े आराम से नाकाम किया जा सके. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक गृह मंत्रालय ने CRPF को इन गाड़ियों की खरीद की मंजूरी दे दी है और जल्द ही ये गाड़ियां CRPF के काफिले में शामिल भी हो जायेंगी.

आपको बता दें कि CRPF को पहले 54 वीवीआईपी की सुरक्षा की जिम्मेदारी मिली हुई थी लेकिन सरकार ने गांधी परिवार और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को मिली एसपीजी सुरक्षा (SPG Security) वापस लेकर CRPF को इनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी दी है. जिससे बाद अब CRPF के कंधों पर 58 वीवीआईपी की सुरक्षा की जिम्मेदारी है. 
 

सुरक्षा जानकारों के मुताबिक लेवल-4 कारें बड़े आईडी विस्फोटकों को बड़े आराम से सह सकती हैं साथ ही इन पर एके-47 जैसे हथियारों के हमले का भी असर नहीं होता. जिससे वीवीआईपी को जान का खतरा भी नहीं होता. एसपीजी के पास पहले से ही लेवल-4 की कारें मौजूद हैं.

CRPF के 4 हज़ार जवान फिलहाल 58 वीवीआईपी की सुरक्षा कर रहे हैं. जिसमें सोनिया गांधी, राहुल, प्रियंका, मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरुशरन कौर की सुरक्षा में एडवांस्ड सिक्योरिटी लायजन (ASL) को भी लगाया गया है. किसी भी कार्यक्रम या एक जगह से दूसरे जगह जाने से करीब 24 घंटे पहले ASL उस जगह की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेती है जिस जगह इन नेताओं को जाना होता है. ASL को संबिधत राज्यों की पुलिस के साथ तालेमल भी बिठाना होता है.

CRPF के एक अधिकारी ने बताया कि हमारी जिम्मेदारी क्लोज प्राकिसीमीटी यानि नजदीकी सुरक्षा घेरे की होती है जिसमें 10-12 जवान सुरक्षा में हर वक्त तैनात रहते हैं. हमारे हर जवान को ऐसी ट्रेनिंग दी गई है जिसे मालूम हो कि कब और क्या करना है. हमारे पास वो सभी किस्म के हथियार हैं जो एसपीजी के पास हैं और हम ऐसी सुरक्षा करने में पूरी तरह से ट्रेंड हैं.

लाइव टीवी देखें

आपको बता दें कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को मिली एसपीजी सुरक्षा हटने के बाद अब सीआरपीएफ को गांधी परिवार की सुरक्षा दी गई है. CRPF ने गांधी परिवार की पर्याप्त सुरक्षा के लिए 6 कंपनियों को तैनात किया है लेकिन CRPF के सामने सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि उसके पास बुलेट प्रूफ कार की कमी है ऐसे में CRPF ये चाहती है कि उसे SPG की बुलेट प्रूफ कार तुरंत मुहैय्या करा दी जाए. ज़ी न्यूज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक CRPF ने SPG और गृह मंत्रालय से गुजारिश की है कि उनको SPG वाली बुलेट प्रूफ़ कार दे दी जाए.

CRPF के एक अधिकारी के मुताबिक SPG की बुलेट प्रूफ कार काफी एडवांस्ड हैं और बाकी कारों के मुकाबले काफी कम्फ़र्टेबल हैं. इससे पहले जब सीआरपीएफ ने पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की एसपीजी हटाकर सीआरपीएफ की जेड प्लस सुरक्षा दी गई थी तब भी सीआरपीएफ ने एसपीजी के द्वारा तैनात की गई बुलेटप्रूफ गाड़ियों को ही अपने कब्ज़े में लेने की गुजारिश की थी जो सरकार ने मंजूर कर ली थी.

सोनिया गांधी के 10, जनपथ स्थित आवास पर इजरायली एक्स-95, एके सीरीज और एमपी-5 बंदूकों के साथ केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल के कमांडो की 2 टुकड़ी ने सुरक्षा का जिम्मा पहले ही संभाल लिया है. इसी तरह का एक दस्ता कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी के तुगलक लेन स्थित आवास और प्रियंका के लोधी एस्टेट में स्थित आवास पर तैनात किया गया है. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.