चंडीगढ़ एयरपोर्ट अगर इंटरनेशनल बन गया तो नाम के आगे से चंडीगढ़ क्यों हटा दिया

पंजाब सरकार ने चंडीगढ़ के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के नाम के आगे से कई जगहों पर चंडीगढ़ हटा दिया है. 

चंडीगढ़ एयरपोर्ट अगर इंटरनेशनल बन गया तो नाम के आगे से चंडीगढ़ क्यों हटा दिया

चंडीगढ़: पंजाब सरकार ने चंडीगढ़ के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के नाम के आगे से कई जगहों पर चंडीगढ़ हटा दिया है. इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बोर्ड तो लगे हुए है लेकिन चंडीगढ़ आगे से हटा दिया गय़ा. चंडीगढ हैरीटेज प्रोटेकशन सेल के मैंबर, वकील अजय जग्गा ने चंडीगढ़ के प्रशासक वीपी बदनोर को पत्र लिख इस पर कार्रवाई करने की मांग की है. चंडीगढ़ प्रशासन ने पंजाब सरकार के सिविल एविएशन विभाग को इस पर ज़रूरी एकशन लेने की अपील की. 

वकील अजय जग्गा के मुताबिक चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट के नाम को लेकर विवाद ज़रूर चल रहा है लेकिन पंजाब सरकार बिना किसी की अनुमति के एयरपोर्ट के नाम के आगे से चंडीगढ़ कैसे हटा सकती है. वकील अजय जग्गा का कहना है चंडीगढ़ का नाम चंडी मंदिर यानि कि मां चंडी के नाम से पड़ा है जिससे लोगों की भावनाएं जुडी हुई है. उनका कहना है चंडीगढ हैरीटेज सिटी भी है जिसकी इंटरनेशनल लेवल पर पहचान हैं. एयरपोर्ट का नाम पहले चंडीगढ़ एयरपोर्ट था लेकिन जब अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट हुआ तो पंजाब सरकार ने धीरे धीरे आगे से चंडीगढ़ हटाना शूरू कर दिया है. जिस पर उन्होने आपत्ति जताई है. वकील जग्गा ने कहा कई जगहों पर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पीछे मोहाली लगाया जा रहा है लेकिन आगे से चंडीगढ़ हटा दिया गया.

वकील अजय जग्गा का कहना है कि पंजाब और हरियाणा स्टेकहोल्डर होने के नाते चाहें तो दोनों टर्मिनल को जो नाम देना चाहते है वो दे सकतें है लेकिन चंडीगढ़ एयरपोर्ट के अंतरराष्ट्रीय होने पर आगे से चंडीगढ़ नहीं हटाया जा सकता. गौरतलब है चंडीगढ़ अंतराष्ट्रीय हवाईअड्डे के नामकरण को लेकर काफी देर से विवाद चल रहा है पंजाब के कई वरिष्ठ नेता शहीद भगत सिंह के नाम से एयरपोर्ट का नाम रखने की मांग कर चुके है. लेकिन जब तक नाम बदला नहीं जाता क्या उस बीच एयरपोर्ट के नाम के आगे से चंडीगढ़ हटाना उचित है? फिलहाल चंडीगढ़ प्रशासन ने पंजाब सरकार के सिविल एविएशन को बनती कार्रवाई करने की अपील की है.