close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आज दोपहर 2:43 बजे लॉन्‍च होगा चंद्रयान-2, तैयारियां पूरी

इससे पहले 15 जुलाई को चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण तकनीकी खामी आ जाने पर रोक दिया गया था. प्रक्षेपण को तय समय से करीब 1 घंटे पहले टाल दिया गया था.

आज दोपहर 2:43 बजे लॉन्‍च होगा चंद्रयान-2, तैयारियां पूरी
इसरो ने अपने जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल-मार्क तृतीय (जीएसएलवी-एमके तृतीय) में आई तकनीकी खामी दूर करने के बाद प्रक्षेपण के लिए संशोधित समय तय किया है.

चेन्नई: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के सिवन ने रविवार को बताया कि रविवार शाम 6.43 बजे से चंद्रयान-2 लॉन्च करने की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. इस उल्टी गिनती के दौरान रॉकेट और अंतरिक्ष यान प्रणाली की जांच की जा रही है और रॉकेट के इंजन को शक्ति प्रदान करने के लिए ईंधन भरा जा रहा है. गौरतलब है कि इससे पहले चंद्रयान-2 को लेकर जीएसएलवी-एमके-3 रॉकेट 15 जुलाई को ही तड़के 2.51 बजे उड़ान भरने वाला था, मगर तकनीकी खराबी के कारण रॉकेट के प्रस्थान करने से एक घंटा पहले उड़ान स्थगित कर दी गई.

इसरो सोमवार को चंद्रयान-2 अंतरिक्ष यान को चांद पर भेजने के लिए पूरी तरह से तैयार है. इसरो चीफ के सिवन ने रविवार को इस बाबत जानकारी देते हुए बताया कि चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण को लेकर इसरो की ओर से सभी तैयारी कर ली गई है. पहले की लॉन्चिंग के समय जो भी तकनीकी खामी सामने आई थीं, उन्‍हें दूर कर लिया गया है.

बता दें कि इससे पहले 15 जुलाई को चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण तकनीकी खामी आ जाने पर रोक दिया गया था. प्रक्षेपण को तय समय से करीब 1 घंटे पहले टाल दिया गया था. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने ट्वीट किया था, "तकनीकी गड़बड़ी के कारण 15 जुलाई, 2019 को रोका गया चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण अब भारतीय समय के अनुसार सोमवार, 22 जुलाई, 2019 को दोपहर 2:43 बजे तय किया गया है."

इसरो ने अपने जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल-मार्क तृतीय (जीएसएलवी-एमके तृतीय) में आई तकनीकी खामी दूर करने के बाद प्रक्षेपण के लिए संशोधित समय तय किया है. इससे पहले 15 जुलाई को इसी जीएसएलवी-एमके तृतीय रॉकेट में तकनीकी खामी आने के कारण चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग नहीं हो पाई थी.