close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

श्रीनगर: अगर नहीं लगाया होता हेडफोन तो बच जाती उसकी जान

 पिछले दिनों श्रीनगर में पत्थरबाजों ने कश्मीर घूमने आए पर्यटकों पर हमला कर दिया. यह हमला श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर नारबल के पास किया गया. इस हमले में एक पर्यटक की मौत हो गई.

श्रीनगर: अगर नहीं लगाया होता हेडफोन तो बच जाती उसकी जान
(फोटो- फेसबुक)

श्रीनगर: पिछले दिनों श्रीनगर में पत्थरबाजों ने कश्मीर घूमने आए पर्यटकों पर हमला कर दिया. यह हमला श्रीनगर-बारामूला हाइवे पर नारबल के पास किया गया. इस हमले में एक पर्यटक की मौत हो गई. वह पर्यटक अपने परिजनों के साथ कश्मीर घूमने आया था. एक अंग्रेजी अखबर से बात करते हुए पीड़ित पिता ने कहा कि हमलोग श्रीनगर-गुलमर्ग रोड पर खड़े थे. सामने करीब 30-40 लोगों को बिल्कुल शांत देखा. बस आई और हमलोग बस पर चढ़ गए. मेरे दिमाग में चल ही रहा था कि कहीं ये लोग पत्थरबाज तो नहीं हैं, तब तक हमारे बसों पर हमला कर दिया गया.

अचानक से हुए हमले में सभी घबरा गए थे
अचानक से हुए इस हमले से हम सभी घबरा गए. किसी को कुछ समझ में नहीं आ रहा था. टूरिस्ट बस में बच्चे, महिलाएं, लड़के, लड़कियां सभी थीं. हम सभी चीखने लगे. हमने सभी से कहा कि वे अपना सिर नीचे कर लें और  हाथों से खुद को ढंक लें. लेकिन, मेरे बेटे ने कान में ईयर फोन लगा रखा था जिसकी वजह से वह मुझे नहीं सुन पा रहा था. जब तक वह कुछ समझ पाता तब तक एक पत्थर आकर उसके सिर में लगी और वह वहीं गिर पड़ा. बाद में उसे शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस अस्पताल में भर्ती कराया गया. लेकिन, बहुत ज्यादा खून बह जाने की वजह से उसे नहीं बचाया जा सका.

दो वाहनों को भी पहुंचा नुकसान
पथराव की घटना में दो वाहनों को भी नुकसान पहुंचा था. इस घटना की सूचना मिलने पर प्रदेश की सीएम महबूबा मुफ्ती समेत तमाम प्रशासनिक अधिकारी अस्पताल पहुंचे थे. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पथराव की इस घटना में एक स्थानीय लड़की भी घायल हुई है. वह लड़की हंदवाड़ा की रहने वाली है. बीते रविवार को शोपियां में सुरक्षाबलों ने पांच आतंकियों और पांच आतंकी समर्थक हिंसक तत्वों को मार गिराया था. उस घटना के बाद से घाटी में पत्थरबाजी की घटना तेज हो गई है जो फिलहाल जारी है.

कुछ मौकों पर हेडफोन के इस्तेमाल से बचें
इस घटना से एक सबक जरूर सीखना चाहिए कि, अगर वह तेज आवाज में ईयर फोन लगाकर गाना नहीं सुन रहा होता तो शायद उसकी मौत नहीं होती. आजकल के युवा हेडफोन लगाकर सड़क पार करना और दूसरे कामों को करना फैशन समझते हैं. हेडफोन का इस्तेमाल करना गलत बात नहीं है. लेकिन, कुछ ऐसे भी मौके होते हैं जहां हेडफोन का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए.