WION ने दिखाया 'सच', 'बौखलाए' चीन ने WION की वेबसाइट को किया बैन

बदले की कार्रवाई करते हुए चीन ने ZEE मीडिया ग्रुप के अंतरराष्‍ट्रीय चैनल WION की वेबसाइट www.wionews.com को ब्‍लॉक कर दिया है.

WION ने दिखाया 'सच', 'बौखलाए' चीन ने WION की वेबसाइट को किया बैन

नई दिल्‍ली: भारत ने अपने साइबर जगत की सुरक्षा और संप्रभुता को सुनिश्चित करने के लिए 59 चीनी ऐप्‍स को बैन कर दिया है. लद्दाख में सीमा पर जारी तनातनी के बीच भारत की इस डिजिटल स्‍ट्राइक से चीन को बड़ा झटका लगा है. बदले की कार्रवाई करते हुए चीन ने ZEE मीडिया ग्रुप के अंतरराष्‍ट्रीय चैनल WION की वेबसाइट www.wionews.com को अपने यहांं ब्‍लॉक कर दिया है. यानी चीन के मुख्यभूमि (Mainland) इस वेबसाइट को नहीं खोला जा सकता है. 

WION की निष्‍पक्ष रिपोर्टिंग चीनी एजेंडे को अक्‍सर उजागर करती रही है. सिर्फ इतना ही नहीं पाकिस्‍तान की चालों को भी WION उघाड़ता रहा है. इसलिए इन दोनों ही देशों की सरकारें WION को निशाना बनाने की कोशिशों में लगी रहती हैं. चीन का ये कदम भी उसी बदले की भावना को उजागर करता है. 

चीन में इंटरनेट को मॉनीटर करने वाली संस्‍था GreatFire.org ने पुष्टि करते हुए कहा है कि WION को चीन में पूरी तरह से ब्‍लॉक कर दिया गया है. GreatFire.org एक ऐसे डाटाबेस के रूप में उभरा है जो चीन द्वारा अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया संस्‍थानों को की जा रही इंटरनेट सेंशरशिप पर नजर रखता है. इसके माध्‍यम से रिसर्चर चीन में जारी डिजिटल सेंसरशिप को ट्रैक कर पाते हैं. 

LIVE TV

कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत चीन से हुई थी. चीन लगातार इसके बारे में झूठ बोलता रहा. WION चैनल लगातार उसके झूठ को उजागर करता रहा. बीजिंग इसको लेकर अपनी नाराजगी भी कई मौकों पर जता चुका है. 

भारत में चीन के राजनयिक भी कोरोना पर WION की कवरेज पर सवाल उठाते रहे हैं. चीनी सरकार के मुखपत्र कहे जाने वाले द ग्‍लोबल टाइम्‍स ने अपने एक आर्टिकल में WION पर तंज कसते हुए उसको स्‍वतंत्र रूप से सोचने की सलाह दी थी. जबकि द ग्‍लोबल टाइम्‍स खुद चीनी सरकार की प्रोपैगेंडा मशीनरी की लाइफलाइन कहा जाता है. 

इसमें कोई शक नहीं कि चीन स्‍वतंत्र प्रेस के विचार को पसंद नहीं करता. इसलिए WION पर बैन प्रेस सेंसरशिप की चीन की उसी रणनीति का हिस्‍सा है. 

मार्च में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ज़ाओ लिजिन (Zhao Lijian) ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर WION को बैन कर दिया था. भारत में चीनी राजनयिकों ने भी कोरोना महामारी पर WION कवरेज की आलोचना की थी.

जून में, चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने एक खबर प्रकाशित करते हुए WION को स्वतंत्र रूप से सोचने की सलाह दी थी. 

यह सर्वविदित है कि चीन को प्रेस की स्वतंत्रता पसंद नहीं आती, और WION पर प्रतिबंध उसकी इसी रणनीति का हिस्सा है.