चीन-पाकिस्तान अब नहीं कर सकेंगे घुसपैठ, भारत ने की 'खास' तैयारी

ड्रोन का इस्तेमाल चीन भी बहुत तेजी से कर रहा है ऐसे में भारत ने भी अपनी स्ट्रैटेजी पर तेजी से काम करना शुरू कर दिया है. भारत इस समय आर्म्ड ड्रोन पर तेजी से काम रहा है और BECA का सबसे बड़ा फायदा इन्हीं कॉम्बैट ड्रोन  या सर्विलांस में मिलेगा.

चीन-पाकिस्तान अब नहीं कर सकेंगे घुसपैठ, भारत ने की 'खास' तैयारी

नई दिल्ली: भारत-अमेरिका के बीच हुए BECA से न सिर्फ भारत को जियो मैपिंग (Geo Mapping) में मदद मिलेगी बल्कि इसका सबसे ज्यादा फायदा भविष्य में होने वाले युद्ध में यानी ड्रोन युद्ध में होगा. दरअसल, जिस तरह से पूरे विश्व में परिस्थितियां बदल रही हैं ऐसे में कहा जा रहा है कि आने वाले वक्त में ड्रोन्स का इस्तेमाल तेजी से बदेलेगा. 

बता दें कि हाल में सीरिया, लीबिया, अजरबैजान और अर्मेनिया के संघर्षों में ड्रोन का जबरदस्त इस्तेमाल हुआ है. पिछले साल सितंबर में सऊदी अरब में ऑयल रिफायनरी पर हुए हमले में भी ड्रोन का इस्तेमाल हुआ था. 

भारत-पाक बॉर्डर पर ड्रोन का इस्तेमाल
ड्रोन का सबसे बड़ा असर भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर भी देखने को मिला रहा है. पिछले एक साल में करीब 5-6 drones भारतीय सुरक्षा बलों ने मार गिराये है जो या तो जासूसी कर रहे थे या हथियारों की सप्लाई में इस्तेमाल किए जा रहे थे.

चीन को माकूल जवाब देंगे भारत के ड्रोन
ड्रोन का इस्तेमाल चीन भी बहुत तेजी से कर रहा है ऐसे में भारत ने भी अपनी स्ट्रैटेजी पर तेजी से काम करना शुरू कर दिया है. भारत इस समय आर्म्ड ड्रोन पर तेजी से काम रहा है और BECA का सबसे बड़ा फायदा इन्हीं कॉम्बैट ड्रोन  या सर्विलांस में मिलेगा.

जल्द बढ़ेगी इंडियन नेवी की ताकत
बता दें कि भारत और अमेरिका के बीच हुए करार के तहत 6 9B Sky Guardian drone भारतीय नेवी के लिए जल्द आएंगे और उसके बाद 18 और ड्रोन्स खरीदे जाने हैं. Israeli MALE Heron को  भारत ने 1999 के बाद खरीदा था लेकिन अब भारत इसे खुद नई तकनीक के साथ डेवलप कर रहा है. 

सेना को ड्रोन्स से ऐसे मिलेगी मदद
रुस्तम 1 (Rustom 1) और रुस्तम 2 (Rustom 2) जिसे DRDO बना रहा है, ये भी बहुत काम आएगा. इस ड्रोन स्ट्रैटेजी का फायदा न सिर्फ कॉम्बैट में मिलेगा बल्कि सर्विलांस और मैपिंग में भी मिलेगा. यानी हिंद महासागर में भी भारत की मजबूती और बढ़ेगी.

BECA में इन 5 समझौते पर किए गए हस्ताक्षर
1. बुनियादी विनिमय और सहयोग समझौता (Basic Exchange and Cooperation Agreement)
2. पृथ्वी विज्ञान पर तकनीकी सहयोग के लिए समझौता (MoU for technical cooperation on earth sciences)
3. परमाणु सहयोग पर व्यवस्था का विस्तार (Arrangement extending the arrangement on nuclear cooperation)
4. डाक सेवाओं पर समझौता (Agreement on postal services)
5. आयुर्वेद और कैंसर अनुसंधान में सहयोग पर समझौता (Agreement on cooperation in Ayurveda and Cancer research)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.