आंखों की शरारत ने खोली विदेशी महिला की पोल, सीआईएसएफ ने पहुंचाया सलाखों के पीछे

शक के आधार पर इस महिला के बैग की जांच की गई. जिससे 12.8 किलो ड्रग्‍स बरामद की गई. जिसके बाद सीआईएसएफ ने इस महिला को नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो के हवाले कर दिया है.

आंखों की शरारत ने खोली विदेशी महिला की पोल, सीआईएसएफ ने पहुंचाया सलाखों के पीछे
आरोपी विदेशी महिला दिल्‍ली एयरपोर्ट से जोहानसबर्ग होते हुए आदिस अबाबा के लिए रवाना होने वाली थी.

नई दिल्‍ली: इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट में एक विदेशी महिला की आंखों की शरारत ने उसे सलाखों के पीछे पहुंचा दिया. दरअसल यह विदेशी महिला एयरपोर्ट के डिपार्चर गेट नंबर तीन से टर्मिनल में प्रवेश करने के लिए खड़ी थी. इस विदेशी महिला की निगाहें टर्मिनल गेट पर टिकट की जांच कर रहे सीआईएसएफ के अधिकारियों पर टिकी थी. यह महिला कभी एक गेट की सुरक्षा जांच परखती तो कभी दूसरे गेट की तरफ झांकने लगती. इस विदेशी महिला के हावभाव देखकर सीआईएसएफ की इंटेलीजेंस विंग के प्रोफाइलर्स को शक हुआ. शक के आधार पर इस महिला के बैग की जांच की गई. जिससे 12.8 किलो ड्रग्‍स बरामद की गई. जिसके बाद सीआईएसएफ ने इस महिला को नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो के हवाले कर दिया है. 

यह भी पढ़ें: दिल्‍ली एयरपोर्ट: अमेरिकी नागरिक को CISF ने किया गिरफ्तार, बैग से मिला फर्जी पासपोर्ट

सीआईएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि यह विदेशी महिला 4 जून की रात करीब 11:45 बजे इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट के टर्मिनल थ्री पर पहुंची थी. सीआईएसएफ के प्रोफाइलर्स ने शक के आधार पर इस विदेशी महिला को गेट नंबर तीन के पास से हिरासत में लिया. इस महिला के पास मौजूद बैग की तलाशी लेने पर उसके भीतर से 58 पाउच बरामद किए गए. जिसमें ड्रग्‍स भरे हुए थे. ड्रग्‍स की बरामदगी के साथ सीआईएसएफ ने इस विदेशी महिला को हिरासत में लेकर इस बाबत नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो के अधिकारियों को सूचित दी. सूचना मिलने के कुछ देर बाद नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो की टीम आईजीआई एयरपोर्ट पहुंच गई और इस विदेशी महिला को ड्रग्‍स के साथ हिरासत में ले लिया. 

यह भी पढ़ें: विदेशी नगदी की तस्‍करी के आरोप में CISF ने तंजानिया मूल की महिला को किया गिरफ्तार

सीआईएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी विदेशी महिला की पहचान जलिसा अमांडा के रूप में हुई है, जो कि दक्षिण अफ्रीका मूल की निवासी है. वह इथोपियन एयरलाइंस की फ्लाइट ईटी-687 से पहले जोहानसबर्ग के लिए रवाना होना था. जोहानसबर्ग से यह विदेशी महिला आदिस अबाबा के लिए रवाना होने वाली थी. सुरक्षा एजेंसियों को चकमा देने के लिए उसने ड्रग्‍स को बेड शीट के बीच में छिपा रखा था. यह विदेशी महिला अपने मंसूबों में सफल होती, इससे पहले सीआईएसएफ ने उसे हिरासत में लेकर ड्रग्‍स तस्‍करी की साजिश को नाकाम कर दिया. उन्‍होंने बताया कि आरोपी विदेशी महिला के कब्‍जे से बरामद की गई ड्रग्‍स की कीमत करीब 13 लाख रुपए है.