close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जब अपने बेटे को शॉपिंग एरिया में छोड़ बैंकाक की फ्लाइट पर सवार हुआ पिता और फिर...

सीआईएसएफ इंटेलीजेंस स्‍टाफ ने 8 वर्षीय बच्‍चे को इंटरनेशनल रिटेल एरिया में रोते हुए देखा. बच्‍चे से बात करने पर पता चला कि वह अपने पिता से बिछुड गया है. 

जब अपने बेटे को शॉपिंग एरिया में छोड़ बैंकाक की फ्लाइट पर सवार हुआ पिता और फिर...
एयरपोर्ट पर पहले भी आ चुके हैं बच्‍चों को भूलने के मामले. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर ऐसे मुसाफिरों की कमी नहीं है जो अपना कीमती सामान टर्मिनल बिल्डिंग में छोड़कर हवाई यात्रा पर रवाना हो जाते हैं. इस बार एक ऐसा शख्‍स सामने आया है जो अपने बेटे को न केवल एयरपोर्ट के शॉपिंग एरिया में भूल गया, बल्कि बैंकाक जाने वाली फ्लाइट में सवार होने के लिए बोर्डिंग एरिया में पहुंच गया.

गनीमत रही कि समय रहते आठ साल के इस बच्‍चे पर सीआईएसएफ के जवानों की निगाह पड़ गई. केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने सीसीटीवी कैमरों की मदद से इस बच्‍चे के पिता का पता लगाया और फ्लाइट के रवाना होने से पहले पिता और पुत्र को आपस में मिला दिया. 

यह भी पढ़ें: सुरक्षा के मुद्देनजर हुए कुछ अहम बदलाव, अब डॉग स्‍क्‍वायड करेगा हर बैग की जांच

सीआईएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, रात्रि करीब 10:30 बजे सीआईएसएफ इंटेलीजेंस स्‍टाफ ने एक आठ वर्षीय बच्‍चे को इंटरनेशनल रिटेल एरिया स्थित जीएमआर हेल्‍प डेस्‍क के करीब रोते हुए देखा. बच्‍चे से बात करने पर सीआईएसएफ के जवानों को पता चला कि वह अपने पिता से बिछुड गया है. 

मामले की गंभीरता को देखते हुए सीआईएसएफ इंटेलीजेंस स्‍टाफ ने सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया. कुछ देर की कवादय के बाद सीआईएसएफ ने सीसीटीवी फुटेज में देखा कि यह बच्‍चा एक शख्‍स के साथ थाई एयरवेज के काउंटर पर मौजूद था. 

यह भी पढ़ें: गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने के लिए एयरपोर्ट के भीतर ले रहा था सेल्‍फी, लेकिन तभी ...

सीआईएसएफ के अधिकारियों ने तत्‍काल थाई एयरवेज के अधिकारियों से संपर्क किया. जहां बच्‍चे और उसके पिता की पहचान का पता चल सका. एयरलाइस ने सीआईएसएफ को बताया कि यह बच्‍चा अपने पिता के साथ थाई एयरवेज की फ्लाइट संख्‍या टीजी-316 से थाईलैंड के लिए रवाना होने वाला था. 

जिसके बाद, सीआईएसएफ ने सीसीटीवी कैमरों की मदद से एयरपोर्ट के बोर्डिंग एरिया को खंगालना शुरू किया. लंबी कवायद के बाद, बच्‍चे ने अपने पिता को सीसीटीवी कैमरों की मदद से पहचान लिया. जिसके बाद, सीआईएसएफ के जवानों ने इस बच्‍चे को उसके पिता से मिलवा दिया. 

यह भी पढ़ें: तस्‍करों के लिए मददगार बने इन 15 रास्‍तों को सालों से है कस्‍टम के हवलदारों की दरकार

सीआईएसएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, यह पहला मामला नहीं है जब कोई पिता अपने बच्‍चे को एयरपोर्ट पर भूलकर हवाई यात्रा पर रवाना होने के लिए निकल गया हो. इससे पहले भी, इस तरह के भुलक्‍कड पिता सामने आ चुके हैं. उन्‍होंने बताया कि इसी तरह का एक मामला इसी साल मार्च में सामने आया था. 

उन्‍होंने बताया कि यह मामला दिल्‍ली एयरपोर्ट के टर्मिनल वन-डी का था. जहां सीआईएसएफ इंटेलीजेंस विंग के एक कांस्‍टेबल ने एक पांच वर्षीय बच्‍ची को टर्मिनल के शॉपिंग एरिया में रोते हुए पाया था. सीसीटीवी कैमरों की मदद से सीआईएसएफ ने पहले बच्‍ची के पिता को खोजा और फिर बच्‍ची को उन तक पहुंचाया.

यह भी पढ़ें: एयरपोर्ट: 'बेहिसाब' विदेशी मुद्रा को दुबई ले जाने की थी साजिश, CISF ने किया नाकाम

इस मामले में बच्‍ची की पहचान रहनुमा परवीन के रूप में की गई थी, जबकि उसके पिता की पहचान मोहम्‍मद आफदाब के तौर पर हुई थी. मोहम्‍मद आफताब अपनी बच्‍ची रहनुमा के साथ स्‍पाइस जेट की फ्लाइट से लेह के लिए रवाना होने वाले थे. इस मामले में, बोर्डिंग का समय होने पर वे अपनी बच्‍ची को शॉपिंग एरिया में छोड़कर फ्लाइट की तरफ चले गए थे.