कश्मीर घाटी में शीतलहर जारी, जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात के लिए बंद

 पिछले सप्ताह मौसम के पहली बर्फबारी के बाद घाटी भीषण ठंड की चपेट में आ गई है. 

कश्मीर घाटी में शीतलहर जारी, जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात के लिए बंद
पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के कारण घाटी देश के बाकी हिस्सों से कट गई है.

श्रीनगर: घाटी में हुई बर्फबारी के कारण जीवन पटरी से उतर गया है. तापमान सामान्य से 2 डिग्री नीचे चल रहा है. पिछले 24 घंटे में घाटी में पहाड़ों पर बर्फबारी तो मैदानी इलाकों में बारिश होती दिख रही है. मौसम विभाग के अधिकारी का कहना है कि अगले एक-दो दिन में मौसम साफ हो सकता है. पिछले सप्ताह मौसम के पहली बर्फबारी के बाद घाटी भीषण ठंड की चपेट में आ गई है. श्रीनगर में दिन के तापमान में कमी हुई है. पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के कारण घाटी देश के बाकी हिस्सों से कट गई है. जम्मू कश्मीर राष्ट्रीय राजमार्ग पर डिगडूल और बटरी चश्मे पर हुए भूस्खलन के कारण रास्ते को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है. श्रीनगर लेह और मुग़ल रास्ता भी बर्फ के कारण बंद है.

घाटी में दिन का तापमान सामान्य से नौ डिग्री कम दर्ज हुआ है. शहर में रात का तापमान 0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 2 डिग्री कम है. दिन का तापमान लुढ़कने से लोगों को काफी परेशानी हो रही है. खुद को गरम रखने के लिए कई स्थानों पर लोग अलाव जलते दिखे. लोग दुकानों में रूम हीटर का सहारा ले रहे हैं. स्थानीय नागरिक अब्दुल राशीद ने कहा "बर्फबारी के कारण बहुत ठंड हो रही है. इस महीने में ऐसी ठंड नहीं होती थी." 
 
जहां आम लोगों की मुश्किलें बढ़ी हैं, वहीं पर्यटक इस मौसम का आनंद ले रहे हैं. वे घाटी के सभी ऊपरी इलाक़ों सहित सभी हिल स्टेशन का रुख कर रहे हैं. ख़ासकर गुलमर्ग जहां ताज़ा एक फ़ीट की बर्फ़ रिकॉर्ड की गई है. मौसम के इस बदलाव से पर्यटन व्यापारी भी उमीद कर रहे हैं कि विंटर पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.