close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सरकार पर जासूसी कराने का झूठा आरोप लगा रही है कांग्रेस: संबित पात्रा

संबित पात्रा ने कहा कि इमरान खान हमें सिखाएंगे कि देश कैसे चलाना है? पाकिस्तान टेररिस्टान है और वे अब हमको मानवाता सिखाएंगे. जो पाकिस्तान ओसामा को अपने पिछवाड़े और आंगन में छिपाकर रखता है वह हमे सिखाएंगे. पाकिस्तान तालीबान को दोस्त मानती है वह हमें ना सिखाए, हां पाकिस्तान से कांग्रेस जरूर सीख सकती है, क्योंकि वह उसे फरिश्ता मानते हैं.

सरकार पर जासूसी कराने का झूठा आरोप लगा रही है कांग्रेस: संबित पात्रा
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा.

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सरकार पर जासूसी के झूठे आरोप लगा रही है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने रविवार को पत्रकारों से कहा कि देश की सुरक्षा के हर विषय पर कांग्रेस पार्टी राजनीति कर देश में झूठ और भ्रम का वातावरण पैदा करने की कोशिश कर रही है. आज कांग्रेस पार्टी किसी और पर जासूसी का आरोप लगा रही है. कांग्रेस पार्टी हर विषय पर झूठ बोलती है. यूपीए और एनडीए के नोटिफिकेशन में कॉमा, फुलस्टाप का अंतर नहीं है, पर हमने सिर्फ उन एजेंसीज को नोटिफाई किया है. इनकी सरकार में खुद जासूसी करते थे और आरोप हमपर लगा रहे हैं. दोनों आरटीआई से कांग्रेस-यूपीए एक्सपोज हो गई है.

संबित पात्रा ने कहा कि इमरान खान हमें सिखाएंगे कि देश कैसे चलाना है? पाकिस्तान टेररिस्टान है और वे अब हमको मानवाता सिखाएंगे. जो पाकिस्तान ओसामा को अपने पिछवाड़े और आंगन में छिपाकर रखता है वह हमे सिखाएंगे. पाकिस्तान तालीबान को दोस्त मानती है वह हमें ना सिखाए, हां पाकिस्तान से कांग्रेस जरूर सीख सकती है, क्योंकि वह उसे फरिश्ता मानते हैं.

20 दिसंबर 2018 के गृहमंत्रालय के नोटिफिकेशन पर विपक्ष और कांग्रेस ने हंगामा किया और प्रधानमंत्री मोदी को डिक्टेटर तक बताया गया. एक आरटीआई अगस्त 2013 का है, जिसके जवाब में केंद्र सरकार ने बताया था कि औसतन 9000 टेलीफोन को प्रतिमाह सरकार इंटरसेप्ट करती है. साथ ही 500 ईमेल पर निगरानी रखी जाती थी. 

दूसरे आरटीआई के (Nov -Dec2013) जवाब में केंद्र सरकार ने बताया था — कुल मिलाकर 9 सेंट्रल और एक स्टेट की एजेंसी ( DGP/Delhi Police Commissioner) है जो इंटरसेप्ट कर सकती है.

मालूम हो कि RTI के जरिए खुलासा हुआ है कि UPA-2 सरकार के दौरान हर महीने 9000 फोन और 500 ईमेल की निगरानी की जाती थी. सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि यूपीए सरकार ने भी इसी तरह का कदम उठाया था. राठौड़ ने कांग्रेस से कहा कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा सुनिश्वित करने के लिए उठाये गए कदमों पर ‘पाखंड’ नहीं करे.

उन्होंने ट्वीट किया,‘2013 के आरटीआई जवाब से खुलासा हुआ कि UPA-2 के दौरान 9000 फोन और 500 ईमेल प्रति महीने टैप किये गए. यह एक दिन में 300 फोन और 20 ईमेल होते हैं. आपातकाल और पोस्ट ऑफिस संशोधन विधेयक के इतिहास के साथ कांग्रेस को राष्ट्रीय सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उठाये गए कदमों को लेकर पाखंड नहीं करना चाहिए.’