नेहरू जयंती पर ममता, नीतीश को कांग्रेस ने किया आमंत्रित

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की 125वीं जयंती पर अगले सप्ताह आयोजित एक समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित करने से इंकार करने के बाद कांग्रेस ने ममता बनर्जी और नीतीश कुमार सहित विभिन्न नेताओं को आमंत्रित किया।

नई दिल्ली : देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की 125वीं जयंती पर अगले सप्ताह आयोजित एक समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित करने से इंकार करने के बाद कांग्रेस ने ममता बनर्जी और नीतीश कुमार सहित विभिन्न नेताओं को आमंत्रित किया।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पिछले सप्ताह इस समारोह के लिए एनसीपी नेता शरद पवार को औपचारिक रूप से आमंत्रित किया था लेकिन एनसीपी द्वारा आज महाराष्ट्र में विश्वास मत के दौरान भाजपा सरकार को समर्थन दिये जाने के बाद कांग्रेस पार्टी अब इस मामले में उहापोह की स्थिति में दिख रही है।

हालांकि पवार अपनी पार्टी के एक कार्यक्रम का हवाला देते हुए पहले ही इस समारोह में हिस्सा लेने में अपनी असमर्थता जता चुके हैं। कांग्रेस ने कल स्पष्ट किया था कि उसने इस समारोह के लिए प्रधानमंत्री को आमंत्रित नहीं किया है। पार्टी प्रवक्ता शकील अहमद ने आज कहा कि कांग्रेस ने सभी वाम दलों, जदयू, राजद, तृणमूल कांग्रेस और अन्य दलों के नेताओं को आमंत्रित किया है।

यह पूछे जाने पर कि क्या वह राम विलास पासवान के नेतृत्व वाली लोक जनशक्ति पार्टी को भी आमंत्रित करेगी, उन्होंने कहा, ‘वे अब राजग के साथ हैं। हमने उनको आमंत्रित नहीं किया है जो नेहरू के विचारों में विश्वास नहीं रखते।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि सोनिया ने व्यक्तिगत रूप से ममता और नीतीश को इस समारोह के लिए आमंत्रित किया है। नेहरू की विरासत और उनके विश्व के प्रति दर्शन पर विचार-विमर्श करने के लिए कांग्रेस की ओर से 17 और 18 नवंबर को दो दिन का आयोजन किया जा रहा है जिसमें अनेक अंतरराष्ट्रीय नेता और भारत तथा विदेश से कई राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि शिरकत करेंगे।