कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव एक साल के लिए टला, पार्टी ने जारी किया नया इलेक्शन शेड्यूल
X

कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव एक साल के लिए टला, पार्टी ने जारी किया नया इलेक्शन शेड्यूल

कांग्रेस (Congress) में अध्यक्ष पद का चुनाव एक साल के लिए टल गया गया है. अब स्थाई अध्यक्ष पर फैसला अगले साल अगस्त-सितंबर में होगा.

कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव एक साल के लिए टला, पार्टी ने जारी किया नया इलेक्शन शेड्यूल

नई दिल्ली: कांग्रेस (Congress) में अध्यक्ष पद का चुनाव एक साल के लिए टल गया गया है. अब स्थाई अध्यक्ष पर फैसला अगले साल अगस्त-सितंबर में होगा. यह फैसला शनिवार को आयोजित हुई कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की बैठक में हुआ. 

1 नवंबर से चलेगा सदस्यता अभियान

बैठक के बाद कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संगठनात्मक चुनाव का पूरा कार्यक्रम सार्वजनकि किया. वेणुगोपाल ने बताया कि पार्टी 1 नवंबर से देशभर में सदस्यता अभियान चलाएगी. यह अभियान अगले साल 31 मार्च तक चलेगा.

इसके बाद 15 अप्रैल तक सभी सदस्यों और चुनावों के दावेदारों की सूची जिला कांग्रेस (Congress) कमेटियों की ओर से प्रकाशित की जाएगी. फिर 16 अप्रैल से 31 मई के बीच ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों और बूथ समितियों के अध्यक्षों का चुनाव होगा. इसके बाद 1 जून से 20 जुलाई के बीच जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों, कोषाध्यक्षों, उपाध्यक्षों और कार्यकारी समिति का चुनाव कराया जाएगा.

अगले साल अगस्त में प्रदेश कमेटियों के चुनाव

जिलों के बाद 31 जुलाई से 20 अगस्त के बीच प्रदेश कांग्रेस कमेटियों के अध्यक्षों, उपाध्यक्षों, कोषाध्यक्षों और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्यों का चुनाव संपन्न होगा. प्रदेश के बाद 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होगा.

बैठक में शामिल पार्टी के कई नेताओं ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से एक बार फिर कमान संभालने का आग्रह किया. उनके इस अनुरोध पर राहुल गांधी ने कहा कि वे इस बारे में विचार करेंगे. वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने G23 के नेताओं को निशाने पर लेते हुए हुए कहा कि वह ही पार्टी की स्थाई अध्यक्ष हैं और उनसे बात करने के लिए मीडिया का सहारा लेने की जरूरत नहीं है.

मीडिया के जरिए बात करने की जरूरत नहीं- सोनिया

सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कहा, ‘मैंने सदा स्पष्टवादिता की सराहना की है. मुझसे मीडिया के जरिए बात करने की जरूरत नहीं है. इसलिए हम सभी यहां खुली और ईमानदार चर्चा करते हैं. लेकिन इस चहारदीवारी से बाहर जो बात जाए वो सीडब्ल्यूसी का सामूहिक फैसला होना चाहिए.’

सूत्रों के मुताबिक G23 के नेताओं ने कहा कि यह अच्छी बात है कि संगठन के निचले स्तर से लेकर ऊपरी स्तर तक चुनाव कराने का फैसला हो रहा है. बताते चलें कि पिछले दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल ने सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाने की मांग की थी. 

ये भी पढ़ें- कांग्रेस में घमासान के बीच कल होगी CWC की बैठक, अध्यक्ष चुनाव पर होगा फैसला?

G23 के नेताओं की मांग पर बुलाई गई बैठक

आजाद ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर आग्रह किया था कि पार्टी से जुड़े मामलों पर चर्चा के लिए कांग्रेस (Congress) कार्य समिति की तत्काल बैठक बुलाई जाए. पार्टी में बागी सुर तेज होते देख सोनिया गांधी ने शनिवार को CWC की बैठक बुलाई थी. इसमें पार्टी के तमाम सीनियर नेताओं ने भाग लिया. इस बैठक में राजनीतिक हालात, कृषि संकट और किसानों पर हमले तथा महंगाई एवं अर्थव्यवस्था की स्थिति पर प्रस्ताव भी पारित किये गए.

LIVE TV

Trending news