चंडीगढ़: कांग्रेस MLA कर रहे थे 'पकौड़ा प्रोटेस्ट', CM खट्टर ने चखकर कहा- स्वाद अच्छा है

विधानसभा के पास कांग्रेस के विधायकों ने पकौड़े का स्टॉल लगाया था. वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पकौड़ा वाले बयान पर विरोध जता रहे थ.

चंडीगढ़: कांग्रेस MLA कर रहे थे 'पकौड़ा प्रोटेस्ट', CM खट्टर ने चखकर कहा- स्वाद अच्छा है
कांग्रेस विधायक पकौड़े लेकर विधानसभा की ओर जा रहे थे तभी पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया.

चंडीगढ़: चंडीगढ़ में विधानसभा के बाहर मंगलवार को पकौड़े पर हो रही राजनीति का एक दिलचस्प वाकया देखने को मिला. दरअसल, विधानसभा के पास कांग्रेस के विधायकों ने पकौड़े का स्टॉल लगाया था. वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पकौड़ा वाले बयान पर विरोध जता रहे थे. जैसे ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर का काफिला वहां से गुजरा विधायकों ने उनकी कार रोक ली और शोर मचाने लगे. इतने में सीएम अपनी कार से उतरे एक पकौड़ा खाया और कहा स्वाद तो अच्छा है. 

आपको बता दें कि पीएम मोदी के पकौड़ा वाले बयान के बाद से ही विपक्षी पार्टियां लगातार इसे मुद्दा बनाए हुए हैं. मंगलवार को हरियाणा विधानसभा के बाहर कांग्रेस विधायकों पीएम नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और अन्य नेताओं के नाम के पकौड़े बेचकर विरोध प्रदर्शन किया.
यह भी पढ़ें: ...चलो चाय के बाद आखिरकार 'पकौड़ा' भी सियासत के काम आया

विधानसभा के बाहर कांग्रेस विधायकों ने लगाया स्टॉल
आपको बता दें कि आज (मंगलवार को) कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी, विधायक कर्ण दलाल और विधायक कुलदीप शर्मा की अगुआई में सभी विधायक पकौड़े लेकर विधानसभा की ओर जा रहे थे तभी पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया. इसके बावदूज भी वो नहीं रुके और आगे बढ़ते गए. 
यह भी पढ़ें: 'पकौड़ा' पॉलिटिक्‍स- पकौड़ा बेचना शर्म की बात नहीं, यह बेरोजगारी से तो अच्‍छा है: अमित शाह

कृषि मंत्री ने कहा- कांग्रेस गराबों का मजाक उड़ा रही है
इसी दौरान सीएम मनोहरलाल खट्टर वहां से गुजर रहे थे तो विधायकों ने उनकी कार रोक दी. कार से उतरकर खट्टर ने पकौड़ा खाया और कहा कि पकौड़े बेचने में कोई बुराई नहीं है. उन्होंने कहा, ''रोजगार तो सभी अच्छे होते हैं.'' वहीं कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने पहेल चाय बेचने वालों का मजाक उड़ाया अब वो पकौड़ा बेचने वाले गरीबों का मजाक उड़ा रहे हैं. कांग्रेस को इसका खामियाजा भूगतना पड़ेगा.