close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मेघालय: सरकार बनाने का मौका नहीं मिलने पर बोली कांग्रेस, जनादेश तो हमें मिला था

मेघालय में सरकार बनाने में विफल रहने पर मेघालय कांग्रेस के अध्यक्ष विंसेंट पाला ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि चुनाव में राज्य के लोगों ने उनकी पार्टी को जनादेश दिया था. 

मेघालय: सरकार बनाने का मौका नहीं मिलने पर बोली कांग्रेस, जनादेश तो हमें मिला था
खड़गे ने कहा कि सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का अवसर दिया जाना चाहिए.

शिलांग: मेघालय में सरकार बनाने में विफल रहने पर मेघालय कांग्रेस के अध्यक्ष विंसेंट पाला ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि चुनाव में राज्य के लोगों ने उनकी पार्टी को जनादेश दिया था. उन्होंने आगे कहा कि यह तो सबको पता है कि बीजेपी, एनपीपी (नेशनल पीपुल्स पार्टी) और यूडीपी (यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी) एक साथ थीं. हमारा चुनाव पूर्व कोई गठबंधन नहीं था. चुनाव प्रचार की शुरुआत से ही हम जानते थे कि ये तीनों पार्टियां एक साथ हैं और यह साबित हो गया है. वैसे देखा जाए तो जनादेश कांग्रेस पार्टी को मिला था. 

बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियों पर हमला करते हुए कहा कि पाला ने कहा कि सरकार बनाने का दावा करना आसान है लेकिन शासन करना मुश्किल है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने फैसला स्वीकार कर लिया है और विपक्ष में बैठने की स्थिति में हम जनता के लिए संघर्ष करते रहेंगे.  

मेघालय में कांग्रेस की उम्मीदों को झटका, गोवा की तरह 'जीतकर' हार गई पार्टी

लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी इस मसले पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. खड़गे ने कहा कि हमारे नेताओं ने मेघालय में कठिन मेहनत की और उनसे ज्यादा सीटें हासिल कीं. बीजेपी ने केवल दो सीटें जीती हैं. उन्होंने इसे 2 से 30 में बदल दिया. उन्होंने हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं को तोड़ और अपने साथ मिला लिया. राज्यपाल को इससे सहमत नहीं होना चाहिए, वे सबसे बड़ी पार्टी नहीं हो सकते.

 

 

खड़गे ने आगे कहा कि सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का अवसर दिया जाना चाहिए. यदि वह बहुमत साबित नहीं कर पाती तो दूसरे सबसे बड़ी पार्टी को आमंत्रित किया जाना चाहिए. वे लोकतंत्र नहीं चाहते हैं और भय का माहौल बनाना चाहते हैं. यह लंबे समय तक नहीं चलेगा, लोग धीरे-धीरे सब समझ जाएंगे.

 

 

कुछ इसी तरह की प्रतिक्रिया अन्य कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने भी दी. उन्होंने मणिपुर और गोवा का उदाहरण देते हुए कहा कि बीजेपी लोगों के जनादेश का अपमान कर रही है जो कि लोकतंत्र के लिए घातक है.