close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

2018 में 250 से ज्यादा आतंकवादी मारे गए, 54 को किया गया गिरफ्तार: सेना

उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा कि पिछले साल घाटी में मारे गये आतंकवादियों की संख्या पिछले 10 सालों में सबसे अधिक है.

2018 में 250 से ज्यादा आतंकवादी मारे गए, 54 को किया गया गिरफ्तार: सेना
उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा कि सुरक्षा के दृष्टिकोण से सुरक्षा बलों के लिए 2018 का साल सबसे अच्छा साल रहा. (फोटो साभार - ANI)

जम्मू: उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बृहस्पतिवार को कहा कि 2018 में जम्मू-कश्मीर में आतंकरोधी अभियानों के दौरान सुरक्षा बलों को उल्लेखनीय सफलता मिली है. इस दौरान सुरक्षा बलों और नागरिकों को निशाना बनाने वाले कई शीर्ष आतंकियों का सफाया किया गया. उन्होंने कहा कि पिछले साल घाटी में मारे गये आतंकवादियों की संख्या पिछले 10 सालों में सबसे अधिक है.

रणबीर सिंह ने पुंछ में संवाददाताओं से कहा,'सुरक्षा के दृष्टिकोण से सुरक्षा बलों के लिए 2018 का साल सबसे अच्छा साल रहा. 250 से अधिक आतंवादी मारे गये, करीब 54 को गिरफ्तार किया गया और चार ने आत्मसमर्पण किया.'  वह ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ की पृष्ठभूमि में घाटी में सुरक्षा स्थिति के बारे में पूछे गये सवाल का जवाब दे रहे थे.

'सेना एलओसी पर पाक आक्रमण का मुंहतोड़ जवाब दे रही है'
सिंह ने यह भी कहा कि सेना राज्य में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी आक्रमण का मुंहतोड़ जवाब दे रही है. उन्होंने कहा,'हमारा अभियान सफल रहा. हम सुरक्षा बलों और नागरिकों को निशाना बना रहे कई आतंकवादियों का सफाया करने में सफल रहे. हमने उनके मंसूबों को विफल कर दिया है.' 

नियंत्रण रेखा पर लगातार हो रहे संघर्ष विराम उल्लंघनों और भारत की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में पांच पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने पर पूछे गये एक सवाल के जवाब में सिंह ने कहा, 'पिछले कुछ दिनों में पांच पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने की जिन खबरों के बारे में आप (मीडिया) बता रहे हैं, उससे स्पष्ट है कि भारतीय सेना पाकिस्तान की हर नापाक हरकत का मुंहतोड़ जवाब दे रही है.'  

उन्होंने कहा जहां तक मुंहतोड़ जवाब देने का मुद्दा है सेना पाकिस्तान से एक कदम आगे है. सुरक्षा बलों को निशाना बनाने के लिए एलओसी पर आईईडी लगाने के बारे में अधिकारी ने कहा कि ‘इसमें कुछ नया नहीं है.’

(इनपुट - भाषा)